भारत के आम चुनावों को बाधित करने की कोशिश कर रहा अमेरिकाः रूस का बड़ा दावा

Russia: रूस का कहना है कि अमेरिका को भारत की राजनीतिक और इतिहास की समझ नहीं है।
Vladimir Putin
Vladimir Putinraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। देश में चुनावी माहौल है। लोकसभा चुनावों 2024 के तीसरे चरण के लिए मतदान प्रक्रिया 7 मई 2024 को पूर्ण हो चुकी है। अभी बाकी बचे तीन चरण के लिए मतदान होना है। 1 जून 2024 को आखिरी मतदान होना है और 4 जून 2024 को लोकसभा चुनावों के मतदान के परिणाम आ जायेंगे। जिससे पता चल जायेगा कि देश में किसकी सरकार बनेगी। इसी बीच रूस ने एक बड़ा दावा किया है कि अमेरिका भारत के लोकसभा चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है।

अमेरिका को भारत की राजनीतिक और इतिहास की समझ नहीं है

रूस की सरकारी न्यूज एजेंसी आरटी न्यूज के अनुसार, रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जाखारोवा ने अमेरिका पर आरोप लगाया है कि वह भारत की राजनीतिक स्थिति को अस्थिर करने की कोशिश कर रहा है। रूस का कहना है कि अमेरिका को भारत की राजनीतिक और इतिहास की समझ नहीं है।

अमेरिका की इस तरह की गतिविधि भारत के अंदुरुनी मामलों में हस्तक्षेप को दर्शाता है

रूस ने अमेरिका पर आरोप लगाया है कि वह भारत पर धार्मिक स्वत्रंतता को लेकर गलत आरोप लगाता रहा है। रूस का कहना है कि वह भारत की राजनीतिक स्थिति को अस्थिर करने की कोशिश कर रहा है। उसका मकसद भारत में हो रहे लोकसभा चुनावों में रुकावटें उत्पन्न करना है। रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जाखारोवा के अनुसार अमेरिका की इस तरह की गतिविधि भारत के अंदुरुनी मामलों में हस्तक्षेप को दर्शाता है, जो कि काफी अपमानजनक है।

भारत पर खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत की हत्या का आरोप लगाना बिल्कुल गलत

मारिया जाखारोवा ने खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या के मामले में भी खुलकर अमेरिका की निंदा की है। उनका कहना है कि अमेरिका ने खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या का आरोप भारत पर लगाया था, लेकिन उसने अभी तक इस मामले में कोई भी पुख्ता सबूत पेश नहीं किए हैं। इस तरह से भारत पर खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की हत्या का आरोप लगाना बिल्कुल गलत है।

इसी को लेकर रूस ने अमेरिका की निंदा की है

जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि अमेरिकी अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता आयोग (USCIRF) ने अपनी ताजा रिपोर्ट में भारत पर धार्मिक स्वतंत्रता उल्लंघन के आरोप लगाते हुए, काफी आलोचना की थी। भारत सरकार ने अमेरिका की इस रिपोर्ट को गलत बताते हुए खारिज कर दिया था। इसी को लेकर रूस ने अमेरिका की निंदा की है और भारत के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप की बात कही है। रूस का कहना है कि अमेरिका भारत के लोकसभा चुनावों को बाधित करने की कोशिश कर रहा है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.