Shukrwar Mantra: मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए करें इन मंत्रों का जाप, कभी नहीं होगी पैसों की कमी

शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा का महत्व है। इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने से घर में सुख शांति बनी रहती है।
Mantra of Laxmi Mata
Mantra of Laxmi Matawww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क। 29 March 2024। मां लक्ष्मी को धन-धान्य, संपदा, वैभव की देवी माना जाता है। जिस व्यक्ति के ऊपर मां लक्ष्मी की कृपा होती है उसे कभी भी धन की कमी नहीं होता है। मां लक्ष्मी की पूजा नियमित रूप से करनी चाहिए। लेकिन शुक्रवार का दिन लक्ष्मी मां की पूजा करने का विषेश महत्त्व है।

पूजा विधि

माता लक्ष्मी की पूजा करने के लिए आपको सबसे पहले प्रातः काल उठना चाहिए और स्नान करने के बाद लाल या गुलाबी वस्त्र धारण करें। पूजा के लिए लकड़ी की चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं और उस पर मां लक्ष्मी की प्रतिमा स्थापित करें। मां लक्ष्मी का गंगाजल से अभिषेक करें। कुमकुम का तिलक लगाएं। शुक्रवार के दिन पूजा में देवी लक्ष्मी को सफेद फूल, सफेद चंदन आदि अर्पित किया जाता है और खीर का भोग लगाकर प्रसाद ग्रहण करते हैं। व्रत के दौरान उपासक को एक समय भोजन करना चाहिए।

मां लक्ष्मी के चमत्कारी मंत्र

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नमः

यह वैभव लक्ष्मी का मंत्र है, इस मंत्र का जाप 108 बार करने से व्यक्ति को लाभ मिलता है।

धनाय नमो नमः

देवी मां के इस मंत्र का रोजाना 11 बार जाप करना चाहिए। इससे व्यक्ति की धन संबंधित परेशानियां दूर होती हैं।

ॐ लक्ष्मी नमः

यह मंत्र का अगर जाप किया जाए तो व्यत्ति घर में लक्ष्मी का वास होता है।

ॐ ह्रीं ह्रीं श्री लक्ष्मी वासुदेवाय नमः

इस मंत्र का जाप किसी भी शुभ कार्य करने से पहले करें।

मां लक्ष्मी के सबसे प्रभावशाली मंत्र

श्री लक्ष्मी बीज मन्त्र:

ॐ श्री ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मयै नमः।।

श्री लक्ष्मी महामंत्र:

ॐ श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।

लक्ष्मी प्रार्थना मंत्र:

नमस्ते सर्वगेवानां वरदासि हरे: प्रिया।

या गतिस्त्वत्प्रपन्नानां या सा मे भूयात्वदर्चनात्।।

मां लक्ष्मी की आरती

ऊं जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता।।

तुमको निशदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता।

ऊं जय लक्ष्मी माता।।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.