Somwar Mantra: भोलेनाथ के बीज मंत्र का करें जाप, जीवन में रहेगा सुख- समृद्धि का वास

भगवान भोलेनाथ सब के कर्ताधर्ता है और भगवान को प्रसन्न करने के लिए उनके चमत्कारी मंत्रों का जाप करना चाहिए।
Bholenath Mantra
Bholenath Mantrawww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।25 March 2024। हर घर में सभी देवी देवताओं की पूजा की जाती है लेकिन महादेव की पूजा अर्चना से व्यक्ति अकाल मृत्यु से भी बच जाता है। वही भगवान के बीज मंत्र का जाप करने से घर में सुख शांति और समृद्धि का वास होता है।

इन बीज मंत्र द्वारा करें भोलेनाथ को प्रसन्न

ॐ नमः शिवाय

कथाओं के अनुसार शिव पुराण में ॐ नमः शिवाय मंत्र का वर्णन किया गया है। यह भगवान शिव का प्रभावशाली मंत्र माना जाता है। मान्यता है कि जो भी व्यक्ति प्रतिदिन इस मंत्र का 108 बार जप करता है तो ऐसा करने से व्यक्ति को आरोग्य की प्राप्ति होती है। और अगर कोई व्यक्ति की तबीयत ठीक नहीं है तो इस मंत्र के जब से वह जल्दी ही तंदुरुस्त हो जाता है। साथ ही भगवान शिव की कृपा प्राप्त होती है।

ॐ नमो भगवते रुद्राय नमः

अपने मन की मनोकामनाएं भगवान भोलेनाथ तक पहुंचाने के लिए शास्त्रों में इस मंत्र का वर्णन किया गया है। और यह भगवान भोलेनाथ का रूद्र मंत्र कहलाता है। कहते हैं कि यह मंत्र भगवान भोलेनाथ को बहुत प्रिय है इस मंत्र का जाप करते हुए जो व्यक्ति अपनी इच्छाएं रखता है। वह सीधा भोलेनाथ तक पहुंचती है और जल्द सेजल उसकी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है।

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् |उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात् |

यह भगवान भोलेनाथ का सबसे शक्तिशाली महामृत्युंजय मंत्र है। इस मंत्र के जब से व्यक्ति की सभी सभी परेशानियों का नाश होता है। वही व्यक्ति अकाल मृत्यु से भी सदैव सुरक्षित रहता है। इसके साथ ही इस मंत्र के जब से ऊपरी बढ़ाएं भी नहीं आती। इसीलिए हमेशा इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहितन्नो रुद्रःप्रचोदयात्!

यह मंत्र भगवान भोलेनाथ का गायत्री मंत्र कहलाता है। इस मंत्र के जाप घर में सुख- समृद्धि की प्राप्ति होती है। और जावन में शांति बनी रहती है। वहीं, आर्थिक स्थिति भी मजबूत रहती है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.