Vastu Tips: घर के मुख्य द्वार पर नेम प्लेट लगाते समय इन बातों का रखें ध्यान, भूलकर भी ना करें ये गलतीयां

वास्तु शास्त्र में ऐसी कई बातें बताई गई है। इनका पालन करके आप अपने जीवन में सफलता की ओर बढ़ सकते हैं।
Vastu Tips of Name Plate
Vastu Tips of Name Platewww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।15 May 2024। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में ऐसे कई सारी चीज होती हैं जिसको सही ढंग से ना रखा जाए या ना किया जाए तो उसका गलत प्रभाव पड़ता है। यहां तक की घर में लगाया हुआ नेम प्लेट भी वास्तु के अनुसार घर में सकारात्मक और नकारात्मकता ला सकता है। अगर आपने इसे सही दिशा या सही प्रकार से नहीं लगाया तो इसका गलत प्रभाव भी पड़ता है। तो आईए जानते हैं नेम प्लेट से जुड़े कुछ वास्तु उपाय।

वास्तु के अनुसार इस प्रकार का लगाएं घर में नेम प्लेट

नेम प्लेट का अक्षर

अगर आप घर में नेम प्लेट लगा रहे हैं तो आपको सबसे पहले इसमें लिखा हुआ अक्षरों का ध्यान दें यह एकदम साफ सुथरा होना चाहिए ताकि पढ़ने में आसानी हो। नेम प्लेट पर नाम इस तरह से लिखा जाना उचित होता है कि वह बहुत ज्यादा भरी हुई ना दिखे और ना ही बहुत ज्यादा खाली दिखे।

दाएं तरफ लगाए नेम प्लेट

वास्तु शास्त्र के अनुसार नेम प्लेट के आकार का भी सही होना जरूरी होता है। नेमप्लेट आयताकार ही सबसे अच्छी मानी जाती है। इसके अलावा नेमप्लेट सदैव दो लाइनों में लिखी हुई होनी चाहिए।इसे लगाते समय ध्यान दे की ये प्रवेश द्वार के दाएं तरफ लगाना अच्छा होता है।

इस प्रकार के नेम प्लेट को घर से बाहर निकाले

अगर आपका नाम प्लेट टूट गया है या उसकी प्लास्टिक और पेंट उतर गया है। तो आप उसे जल्द से जल्द घर से बाहर निकाल दें क्योंकि ऐसा नेम प्लेट घर में नकारात्मकता को लाता है। इसके साथ ही नेम प्लेट के पीछे मकड़ी का जल छिपकली आदि न आने दें।

नेम प्लेट को रखें साफ सुथरा

घर में लगे नेम प्लेट को हमेशा साफ सुथरा रखें आप इसे और आकर्षित दिखाने के लिए इसके ऊपर एक छोटा सा बल्ब भी लगा सकते हैं। ताकि इसमें रोशनी पड़े। इसके साथ ही नेम प्लेट का रंग भी काफी मायने रखता है। अगर आप घर में नेम प्लेट लगा रहे हैं तो घर के बड़े मुखिया की राशि के रंग के हिसाब से ही इसका रंग रखें।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.