Vastu tips: भूलकर भी ना करें फाल्गुन माह में यह कार्य जानिए, क्या कहता है वास्तु शास्त्र

फाल्गुन माह में कुछ कार्य ऐसे होते हैं जिनको करने से आपके जीवन में कष्ट और परेशानी बढ़ जाती है।
vastu of Phalgun Month
vastu of Phalgun Monthwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।25 February 2024। फाल्गुन माह में हम कई सारी चीज करते हैं। जहां एक तरफ यह चीज करने से भगवान की कृपा होती है। तो वहीं दूसरी तरफ कुछ चीज ऐसी होती है जिनको अगर किया जाए तो हमारे जीवन को कष्ट और परेशानियां घेर लेती है।

फाल्गुन माह में बिल्कुल ना करें यह कार्य

इस साल फाल्गुन माह में होलाष्टक 17 मार्च से शुरू होंगे, जो होलिका दहन पर 24 को खत्म होंगे। इन 8 दिनों में कोई भी मांगलिक कार्य नहीं करना चाहिए। इससे दोष लगता है। और किए गए कार्य सफल नहीं होते।

फाल्गुन माह को शास्त्रों में बेहद पवित्र माना गया है। इसलिए मानसून में मदिरा का त्याग करना चाहिए। आपको साधारण भोजन करना चाहिए।

फाल्गुनी माह में भोजन में अनाज का उपयोग कम करें। चना का भी उपयोग करना मना है। इसीलिए आपको फाल्गुन माह में चना नहीं खाना चाहिए।

फाल्गुन महीने में गरम पानी से नहाने से बचना चाहिए। इस माह में गरम पानी से नहाना फायदे के बजाय शरीर को नुकसान पहुंचाता है।

फाल्गुन माह रंगों का महीना है, इसलिए रंगीन कपड़े पहने चाहिए इस महाकाले-सफेद कपड़े पहनने से बचें।

फागुन माह में अगर आपको कोई निंदा कर या अपशब्द बोले तब आप को उसका जवाब प्यार से ही देना चाहिए क्योंकि इस माह में आप शब्द बोलने पर जीवन में परेशानी आती है।

फाल्गुन माह में करे यह कार्य

फाल्गुन महीने में घी, सरसों के तेल, वस्त्र, अनाज आदि का दान करने से बहुत पुण्य मिलता है।

फाल्गुन माह में भगवान श्रीकृष्ण की विधिपूर्वक पूजा करें। जिन लोगों की संतान नहीं हो रही वॉइस मां भगवान श्री कृष्ण की पूजा करें और उनके मंत्रो का जाप करें।

महाशिवरात्रि के दिन व्रत रखकर भोलेनाथ की पूजा करें।इससे चंद्र दोष दूर होगा और जीवन के सभी कष्टों से भी मुक्ति मिलेगी।

फागुन माह में भगवान महादेव श्री कृष्णा और चंद्र देव की पूजा करनी चाहिए। चंद्र गृह को मजबूत बनाने का या खास महा होता है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.