बदलाव के दौर में हो रही हैं परेशान, इस तरह से मिलेगी खुशी

बदलाव के दौर में महिलाओं को तरह की चीजों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में कुछ चीजों को शामिल कर जीवन को बेहतर बना सकती हैं।
Women Tips
Women Tips Pixabay

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क|चालीस की आयु में बहुत सी महिलाओं में बदलाव आना शुरू हो जाता है। इसमें आपका चिड़चिड़ापन, गुस्सा, तनाव ज्यादा होता है। इसके साथ ही आए दिन बच्चों या फिर पति में तकरार शुरू हो जाती है। इस हालात में परिजन नहीं बल्कि महिलाएं भी काफी परेशान हो जाती हैं। आइए जान लेते हैं 40 की उम्र के बाद महिलाओं में किस तरह के बदलाव आते हैं।

महिलाओं में होते हैं हार्मोनल बदलाव

यह प्रीमेनोपॉज पीरियड होने लगता है। जिसमें मूड स्विंग होना काफी आम बात होती है। इससे स्वभाव में बदलाव के साथ-साथ मासिक चक्र में गड़बड़ी, हार्मोन असंतुलन, हॉट फ्लश, एकाग्रता में कमी, नींद न आने की दिक्कत बढ़ जाती है। ऐसा एस्ट्रोजन हार्मोन में गिरावट की कमी के चलते हो जाता है।

सामाजिक बदलाव से मिलेगा फायदा

बच्चे बड़े होने लगते हैं और पढ़ाई या करियर बनाने के लिए बाहर चले जाते हैं। वे मां से बातचीत करने में समय नहीं निकाल पाते। जिससे मां उपेक्षित महसूस करती है। ऐसे में परिवार के लोगों को महिला का समर्थन कर उनको लेकर समझना जरूरी है।

खुश रहने के लिए इन चीजों को करें फाॅलो-

सही लाइफस्टाइल चुने

स्ट्रेस फ्री रखना है तो आपको लाइफस्टाइल चुनना भी अहम है। इसलिए अपनी दिनचर्या को सही तरीके से अपनाकर हेल्दी डाइट को रूटीन में शामिल कर सकते हैं। उठने के बाद योग और व्यायाम जरूर करना चाहिए। भोजन में पौषक तत्वों को शामिल करे।

डांस करें

स्ट्रेस को दूर करना है तो डांस सबसे बेहतर विकल्प है। इसको दूर करने हेतु अपने किसी फेवरेट गाने पर खुलकर नाच सकते हैं। ऐसा करने से आपका मूड ताजा रहता है और बेहतर महसूस होता है। डांस करने से आपके शरीर में स्‍फूर्ति बनी रहती है और थोड़ी देर के लिए मन से टेंशन नहीं होती जिससे आप पॉजिटिव सोच सकते हैं।

खुलकर हंसने से मिलेगा फायदा

खुलकर हंसने से न केवल आपका स्ट्रैस दूर करने में मदद मिलती है। बल्कि यह आपकी सेहत के लिए भी अच्छा है। एक रिसर्च के अनुसार, खुलकर हंसने के बाद आपका तनाव कम होने लगता है। इससे कॉर्टिसोल लोअर होता है, जिससे दिमाग में एंडोमॉर्फिन कैमिकल रिलीज होते ही तनाव कम होता है।

लोगों के साथ टाइम करें स्पेंड

अक्सर तनाव या स्ट्रेस हो जाने पर आपको काफी ध्यान रखना पड़ेगा। लेकिन इससे आपकी समस्या बढ़ जाती है। इसलिए लोगों से बातचीत करें। अपनी फैमिली और फ्रैंड्स के साथ समय बिता सकते हैं। ऐसा करने से आपको हल्‍का महसूस होगा और एक ताकत अंदर से आएगी जो आपको कुछ नया करने में मदद करता है।

Related Stories

No stories found.