आखिर महिलाओ के पेट में क्यों नहीं पचती बातें, जाने कारण और शास्त्रों में क्या है रहस्य

आखिर क्यों हमेशा ऐसा कहा जाता है कि महिलाओं के पेट में बात नहीं पचती। इसलिए उन्हें कोई भी बातें नहीं बताई जाती । इसके पीछे का कारण महाभारत से जुड़ा है। जिसे आपको जानना चाहिए।
Women Secrets
Women SecretsSocial Media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क: अक्सर हमने कई लोगों से यह कहते सुना है कि महिलाओं के पेट में कोई बात नहीं पचती है। कहने का मतलब यह है कि कोई भी महिला अपने पास कोई राज नहीं छुपा कर रख सकती।  इसे ज्यादातर लोग महिलाओं को स्वभाव का दोष देते हैं।  उनकी आदतों को दोष देते हैं।  वह किसी से कोई बात या राज छुपा कर नहीं रह सकती।  इसलिए महिलाओं को कोई बात नहीं बतानी चाहिए। लेकिन  ऐसा मिथ कुछ नहीं है बल्कि  रहस्य महाभारत से जुड़ा हुआ है। तो चलिए जानते है।

महिलाओं के पेट में हजम नहीं होती बात

जब दो महिलाएं एक साथ कहीं खड़ी हो जाती हैं तो वहीं पर उनकी बातचीत शुरू हो जाती है। जब भी महिलाओं से कोई बात छुपाने के लिए कहा जाता है तो वह उस बात को अधिक समय तक अपने पेट में नहीं रख पाती।  किसी न किसी महिला के सामने जाकर उसे बताई देती है।  देखा जाए तो कुछ हद तक यह सच भी है। क्योंकि महिलाएं अधिक समय तक किसी बात को अपने तक सीमित नहीं रख सकती।  महिलाओं की आदत कभी भी लड़ाई झगड़ा कारण बना देती है।  क्योंकि इसके बावजूद वह बाज नहीं आती है। इसलिए उन्हें बार बताने से पहले सोचना चाहिए।

महाभारत में छुपाए इस बात का राज

पौराणिक कथाओं के अनुसार जब महाभारत का युद्ध समाप्त हुआ तो कुंती ने युधिष्ठिर को बताया कि वह करण तुम्हारा बड़ा भाई था।  इस पर पांडवों को बहुत अफसोस हुआ । इसके बाद युधिष्ठिर ने विद्वत पूर्वक करण का अंतिम संस्कार किया कुंती द्वारा जब पांडवों को कारण के जन्म का रहस्य पता चला तो उन सबको बहुत दुख हुआ युधिष्ठिर ने अपनी मां से ऐसी कोई उम्मीद नहीं थी।  इस पर उन्हें बहुत गुस्सा आया । उन्होंने मां से कहा कि यदि वह पहले इस राज  को बता देती तो शायद आज वह नहीं होता। जो हो गया।  इस पर युधिष्ठिर को इतना गुस्सा आया कि उन्होंने संपूर्ण स्त्री जाति को श्राप दे दिया कि आज से कोई भी स्त्री गुप्त बात छुपा कर नहीं रख पाएगी। तभी से महिलाओं के पेट में कोई बात नहीं पचती है। 

क्या है साइंटिफिक रीजन

एक रिसर्च में उल्लेख किया गया है कि महिलाएं गॉसिप की एक स्ट्रेटजी का प्रयोग करती हैं।  यह अपना काम बनाने और अन्य इंसान की इमेज को खराब करने के लिए ऐसा करती है।  एक अध्ययन में यह भी पाया गया है कि जब दो महिला मिलकर किसी की बात करती है तो दोनों महिलाओं के बीच बॉन्डिंग बेहतर हो जाती है। इसलिए बात शेयर नहीं करना चाहिए।

Related Stories

No stories found.