लंबे समय से Cervical Pain कर रहा है परेशान, इन 4 योगासनों से मिलेगा फायदा

शरीर में लंबे समय से सर्वाइकल पेन हो रहा है। तो इसके लिए आप इन 4 योगासनों से लाभ मिलने वाला है।
Cervical pain
Cervical painPexels

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क | घंटों एक जगह बैठने की वजह से शरीर में ऐंठन बढ़ती है। जिसकी वजह से गर्दन के अलावा कमर में भी हर जगह स्टिफनेस बढ़ना शुरु हो जाती है। जो सर्वाइकल पेन की अहम वजह बनने लगता है। रीढ़ की हड्डी के इस दर्द को सर्वाइकलगिया के तौर पर जाना जाता है। जिससे शरीर का पोश्चर के अलावा बाॅडी प्रोडक्टीविटी भी प्रभावित हो जाती है। गर्दन की नसों पर बढ़ने वाले तनाव की वजह से ये दिक्कत होने लगती है। इसमें पेन किलर्स और हाॅट व कोल्ड थैरेपी कुछ आसान योगासन से इस समस्या से निजात मिल जाएगी। 4 योगासन जान लेते हैं जो सर्वाइकल से राहत दिला पाएंगे।

कटि चक्रासन

पैरों को मज़बूती प्रदान करना है तो इस योगासन से रीढ़ की हड्डी भी दर्द की समस्या से दूर होने लगती है। इसके नियमित अभ्यास करने से लचीलापन होने लगता है और कमर में होने वाला दर्द कम होता है। इसका नियमित अभ्यास करने से मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है और कब्ज की समस्या से निजात मिलती है। ये आसन करने के लिए मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। दोनों पैरों के मध्य दूरी बनाएं। इसके बाद दोनों बाजुओं को सीधा करें। गर्दन को दाहिनी ओर लेकर जाएं और दाहिने कंधे की तरफ देखें। इसके बाद गर्दन को दाहिनी तरफ लेकर जाएं और दाहिनी कंधे की तरफ देखें। दोनों बाजुओं को लेकर सामने आए। ये योग प्रक्रिया के दौरान अपना सांस पर खास ध्यान दें।

हस्त उत्तानासन

दिनभर कुर्सी पर बैठने से कमर दर्द से दिक्कत होने लगती है। कमर दर्द दूर करना है तो योगासन की शुरुआत करें। जिससे मांसपेशियों में बढ़ने वाली ऐंठन कम होती है। इसके अलावा पैरों के दर्द से राहत होती है। ये योगासन करना है तो मैट पर सीधे खड़े रहें। अब दोनों पैरों के बीच थोड़ा सा गैप बनाएं। शरीर को सीधा बनाए रखें। दोनों बाजुओं को ऊपर की तरफ लेकर जाएं और सिर ऊपर की तरफ लेकर जाएं। दोनों बाजुओं को पीछे की तरफ खींचे। कमर को पीछे जाने का प्रयास करते रहें। इसके बाद गहरी सांस छोड़ना शुरु करें। 30 सैकेंड तक मुद्रा में रहने के बाद वापस लौटना शुरु करें।

धनुरासन

शरीर में बढ़ने वाली ऐंठन को दूर करना है तो इस योगासन का नियमित अभ्सास करते रहें। जिससे टांगों, हिप्स और थाइज में बढ़ रही स्टिफनेस कम होने लगती है। सर्वाइकल पेन से भी राहत मिलती है। पेट की मांसपेशियों का खिचांव बढ़ जाता है और बैक पेन से राहत मिलने लगती है। ये योगासन करने के लिए बल मैट पर लेट जाएं। दोनों घुटनों को सीधा कर लें। पैरों को जमीन पर छुआ लें। इसके बाद गर्दन को ऊपर की तरफ उठाएं और टांगो को घुटना से मोड़ना शुरु करें। दोनों टांगों को पीछे की तरफ उठाएं। योगासन में गहरी सांस लेना शुरु करें। उसके बाद शरीर रिलैक्स रखें।

ताड़ासन

ताड़ासन से स्टेमिना बढ़ता है। इसके अलावा गर्दन की मांसपेशियों की ऐंठन दूर करने में सहायक है। जिससे शरीर में बढ़ने वाली थकान दूर हो जाती है। ताड़ासन करने के लिए मैट पर सीधे खड़े हो जाएं और गहरी सांस लेना शुरु करें। दोनों एड़ियो को ऊपर की तरफ उठाएं और पंजों पर खड़े हो जाएं। इसके बाद धीरे धीरे बाजुओं को उपर की ओर लेकर जाएं। शरीर का बैलेंस रखना है तो दीवार का सहारा लेकर योगासन कर सकते हैं।

Related Stories

No stories found.