Pregnancy में ज्यादा काॅफी पीने से बच्चे को ये नुकसान पहुंच सकता है

प्रेग्नेंसी में महिलाओं को खान-पान का खास ख्याल रखना होता है। प्रेग्नेंसी में ज्यादा कॉफी पीना बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है।
Health Tips
Health Tips Pixabay

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क | प्रेगनेंसी में महिलाओं को सेहत का ध्यान रखना जरुरी हो जाता है। उनकी हर एक्टिविटी का प्रभाव बच्चों पर भी पड़ जाता है। आप क्या खा रही हैं या क्या कर रही है जिसका प्रभाव बच्चों पर होने लगता है। हाल ही में सर्वे में बताया गया है कि काॅफी आपके बच्चों को नुकसान पहुंचा सकती है। फेवरेट काॅफी से बच्चों को काफी नुकसान हो सकता है। अगर आप प्रेगनेंट हैं और काॅफी का शौकीन हैं तो ये बातों को जानना बहुत जरुरी है।

कैफीन के ज्यादा सेवन से होता है नुकसान

सर्वे द्वारा मिली जानकारी के अनुसार काॅफी पीने वाली महिलाओं कैफीन के सेवन पर ज्यादा ध्यान नहीं रखती हैं। ये काॅफी बहुत ज्यादा पी रही हैं। प्रेगनेंसी के दौरान आपको 200 मिलीग्राम से अधिक काॅफी का सेवन करने से लाभ मिलता है। अगर आप कैफीन के सेवन पर ध्यान नहीं दे रहे हैं तो बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ जाता है।

कैफीन से सेहत पर पड़ता है असर

प्रेगनेंसी के दौरान आपको काॅफी पीना बन्द करना चाहिए। लेकिन आप रोजाना कैफीन का सेवन कर रही हैं तो इसको कम कना चाहिए। प्रेग्नेंसी में 200 मिलीग्राम से ज्यादा काॅफी आपके बच्ची की सेहत को प्रभावित कर सकती है। अगर आप काॅफी के बिचना नहीं रह सकती हैं तो एक दिन में केवल इंस्टेंट काॅफी और फिल्टर काॅफी ही पीना शुरु करें। इससे अधिक सेवन भी प्रेग्नेंसी के दौरान खतरनाक होता है।

स्वस्थ पर पड़ता है असर

आज के दौर में काॅफी शाॅप में कैफीन का अधिक इस्तेमाल होता है। जो प्रेग्नेंट महिलाओं का स्वस्थ ठीक नहीं होता है। हाई स्ट्रीट चेन की बात करें तो कोस्टा मीडियम साइज वाले कैपुचिनों ग्लास में पी सकती है। ये प्रग्नेंट और स्तनपान वाली महिलाओं के लिए थोड़ा ज्यादा रहता है। एक मीडियम साइज स्टारबक्स कैपुचियों में 66 एमजी कैफीन रहता है।

जानकारी के अनुसार प्रेग्नेंसी में ज्यादा कैफीन लेने से आपका बच्चा निर्धारित समय के पहले ही पैदा हो सकता है। जानकराी के अनुसार प्रेग्नेंसी के दौरान जो महिलाएं 500 मिलीग्राम से ज्यादा कैफीन का सेवन कर रहीं हैं। उनके दिल की धड़कन का तेज होना, सांस की दर बढ़ना के अलावा नींद न आने की संभावना बढ़ना शुरु हो जाती है।

Related Stories

No stories found.