tribal-woman-pleads-with-governor-accuses-influencers-of-land-grab
tribal-woman-pleads-with-governor-accuses-influencers-of-land-grab

आदिवासी महिला ने राज्यपाल से लगाई गुहार, रसूखदारों पर जमीन हड़पने का लगाया आरोप

दंतेवाड़ा कलेक्टर और कांगेसी नेता सहित सुरभि कालोनी के बिल्डर पर लगाये आरोप राज्यपाल ने बस्तर कमिश्नर को कमेटी गठित कर जांच के दिये आदेश जगदलपुर, 12 फरवरी (हि.स.)। छग की राज्यपाल अपने बस्तर प्रवास के दौरान शुक्रवार को जब जगदलपुर के सर्किट हॉउस में अलग-अलग समाज के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर रहीं थी, इसी दौरान दंतेवाड़ा की एक आदिवासी महिला भी अपनी फरियाद लेकर पहुंची। आदिवासी महिला निर्मला कर्मा का आरोप है कि दंतेवाड़ा के कुछ रसूखदारों ने उसकी पैतृक जमीन हड़प ली है। जिसे वापस पाने के लिए वह बारह वर्ष से भटक रही है पर कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही। निर्मला कर्मा का कहना था कि वह दंतेवाड़ा के कलेक्टर दीपक सोनी के पास भी अपनी फरियाद लेकर कई बार जा चुकी है, पर वे उसे दुत्कार कर भगा देते हैं और धमकी देते हैं। आदिवासी महिला ने दंतेवाड़ा के रसूखदारों के नाम भी बताये दंतेवाड़ा कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष का नाम भी शामिल है। पीड़ित महिला के अनुसार दंतेवाड़ा में उसके पिता की दो एकड़ पचपन डिसमिल जमीन थी, जिसे धोके से बिल्डरों द्वारा अपने नाम करवा लिया है। अब उनकी जमीन पर सुरभि कॉलोनी भी बना दी गई है। पीड़िता का नाम निर्मला कर्मा होने पर राज्यपाल अनुसुईया उईके ने उनसे पूछा कि क्या वे स्वर्गीय महेंद्र कर्मा की रिस्तेदार हैं, जिस पर पीड़िता ने रोते हुए कहा कि जो किसी के दु:ख में साथ न दे वह कैसा रिश्तेदार। अगर वे वाकई उनके रिश्तेदार होते तो उनकी जरूर मदद करते। पर उनके स्वभाव को देखते हुए वे अब उन लोगों को अपना रिश्तेदार नहीं मानती। राज्यपाल के सामने अपनी फरियाद लगाने पर राज्यपाल ने तत्काल बस्तर कमिश्नर को मामले की जांच कर पीड़िता को इंसाफ दिलाने के निर्देश दिए हैं। आपको बता दें कि राज्यपाल अनुसुइया उइके ने शुक्रवार को पत्रकार वार्ता के दौरान भी इस मामले पर विशेष जोर दिया था, कि बस्तर में आदिवासियों की जमीन गैर आदिवासियों के द्वारा गलत तरीके से हथियाई जा रही है। ऐसे कई मामले बस्तर में लगातार सामने आ रहे हैं। इसलिए बस्तर कमिश्नर को इसके लिए आदेशित किया गया है कि एक कमेटी गठित कर ऐसे मामलों की जांच की जाये और आदिवासियों को उनकी जमीने वापस दिलवाई जाएं। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे-hindusthansamachar.in

Related Stories

No stories found.