RCB Vs LSG: मयंक यादव ने फेंकी आईपीएल इतिहास की सबसे तेज गेंद, स्पीड इतनी की कैमरून चारों खाने चित

Mayank Yadav: आईपीएल में हर दिन नए-नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। तेज गेंदबाज मयंक ने फिर से तेज रफ्तार गेंद डाली है। इसके साथ ही वह आईपीएल इतिहास में सबसे तेज गेंदबाजों में शुमार हो गए हैं।
मयंक यादव।
मयंक यादव। @IPL एक्स सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। आईपीएल 2024 के 15वें मुकाबले में लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) के तेज गेंदबाज मयंक यादव ने इतिहास रच दिया। मयंक ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के खिलाफ इस मैच में 156.7 की रफ्तार से गेंद डाली। उन्होंने ऐसा करके सबको हैरान कर दिया है। मयंक अब आईपीएल इतिहास के पहले तेज गेंदबाज बन गए हैं। इससे पहले इस खिलाड़ी ने पंजाब किंग्स के खिलाफ भी शानदार गेंदबाजी की थी। मैच में 4 ओवर में 27 रन देकर 3 विकेट झटके थे। उन्होंने एक गेंद 155.8 की रफ्तार से फेंकी थी। तब भी वह खूब सुर्खियों में रहे थे।

156.7 की रफ्तार से डाली गेंद

लखनऊ सुपरजाइंट्स ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 182 रनों का लक्ष्य दिया था। लक्ष्य का पीछा करने उतरी बेंगलुरु टीम 7 ओवर में ही 3 विकेट खो दी थी। टीम की नैया पार लगाने की जिम्मेदारी ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी कैमरून ग्रीन पर थी। मयंक आठवीं ओवर में गेंदबाजी करने आए और इतिहास रच दिया। मयंक ने ओवर की तीसरी गेंद 156.7 की रफ्तार से डाली, जिस पर कैमरून चारों खाने चित हो गए।

आईपीएल इतिहास की 5वीं सबसे तेज गेंद

ग्रीन ने बल्ला चलाया और गिल्लियां बिखर गईं। यह इस आईपीएल सीजन की सबसे तेज गेंद और आईपीएल इतिहास की 5वीं सबसे तेज गेंद बन गई। इस एक गेंद के साथ मयंक ने कई दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया। मयंक ने आईपीएल में सबसे अधिक बार 155 प्लस की स्पीड से गेंद डालने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया है।

2 दिग्गजों का तोड़ा रिकॉर्ड

मयंक इस IPL सीजन में 155 प्लस की स्पीड से 3 बार गेंद डाल चुके हैं। इससे पहले IPL इतिहास में किसी गेंदबाज ने 155 प्लस की रफ्तार से 3 बार गेंद नहीं डाली थी। दूसरे नंबर पर भारत के तेज गेंदबाज उमरान मलिक हैं। उन्होंने यह कारनामा 2 बार किया है। साउथ अफ्रीकी तेज गेंदबाज एनरिक नॉर्खिया भी IPL में 2 बार 155 प्लस स्पीड से गेंदबाजी किए हैं। मयंक ने RCB के खिलाफ मैच के बाद इन दोनों दिग्गजों को पीछे छोड़ा है। इस गेंदबाज ने मैच में 4 ओवर में 14 रन देकर 3 विकेट झटके हैं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.