AUS vs PAK: टीमें मैदान पर करती रहीं इंतजार, अंपायर लिफ्ट में फंसे रहे, ऐसे संभली बात

Cricket Intresting Incident: ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान की टेस्ट सीरीज़ चल रही है. जिसका दूसरा मैच मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जा रहा है।
लिफ्ट में फंसे थर्ड अंपायर।
लिफ्ट में फंसे थर्ड अंपायर।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर दूसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा। मैच के तीसरे दिन यानी 28 दिसंबर को पाकिस्तान टीम ने ऑस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में अच्छी शुरुआत करने से रोक दिया। वहीं, लंच के बाद ऐसा कुछ हुआ कि खिलाड़ी हैरान रह गए। सभी खिलाड़ी मैदान पर खेल शुरू होने का इंतजार कर रहे थे, लेकिन थर्ड अंपायर नदारद थे। आखिर में चौथे अंपायर को दौड़कर आना पड़ा। दरअसल, मैच के दौरान थर्ड अंपायर रिचार्ड इलिंगवर्थ लिफ्ट में फंस गए थे।

चौथे अंपायर ने ली जिम्मेदारी

खोजबीन शुरू की गई तो जानकारी हुई कि तीसरे अंपायर रिचार्ड इलिंगवर्थ लिफ्ट में फंसे हैं। सभी उनकी जगह पर पहुंचने का इंतजार कर रहे थे। ऐसे में बाउंड्री के पास खड़े चौथे अंपायर ने जिम्मेदारी ली और वह भागकर ऊपर गए, जहां थर्ड अंपायर बैठते हैं। थोड़ी देर में सब कुछ ठीक हो गया। इसके बाद मैच शुरू किया गया।

आपको बता दें कि क्रिकेट मैच के दौरान मैदान पर दो अम्पायर मौजूद होते हैं। दोनों क्रीज़ की दोनों तरफ होते हैं। वहीं, थर्ड अम्पायर कैमरे से मैच पर नज़र रखते हैं। अगर किसी वजह से मैदान पर मौजूद दोनों अम्पायर फैसले पर नहीं पहुंच पाते या अगर उनके फैसले के खिलाफ प्लेयर्स अपील करते हैं तो थर्ड अम्पायर का फैसला अंतिम माना जाता है।

ऑस्ट्रेलिया को झटके

दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया की हालत खराब हुई। लंच से पहले उस्मान ख्वाजा और मार्नस लाबुशेन आउट हो गए थे। ख्वाजा पहले ओवर की दूसरी गेंद पर शाहीन शाह अफरीदी की गेंद पर आउट हो गए। मार्नस लाबुशेन को मीर हमजा ने आउट कर दिया। लंच बाद हमजा ने वॉर्नर को भी पवेलियन लौट दिया। उन्होंने ट्रेविस हेड को भी आउट कर दिया।

IND vs SA टेस्ट के क्या हाल?

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच भी फ्रीडम ट्रॉफी खेली जा रही है. नेल्सन गांधी-फ्रीडम ट्रॉफी का पहला मैच सेंचुरियन में हो रहा है. 28 दिसंबर को मैच के तीसरे दिन साउथ अफ्रीका भारत से आगे चल रही है. सीरीज़ का दूसरा मैच केपटाउन के न्यूलैंड्स में 3 जनवरी से खेला जाएगा.

Related Stories

No stories found.