UP News: सिद्धार्थनगर में मुस्लिम महिला विधायक के मंदिर जाने पर गंगाजल से धोया, हनुमान चालीसा का पाठ भी कराया

Washed the temple in Siddharthnagar:उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले के एक मंदिर में सपा विधायक सैय्यदा खातून के जाने पर उसे गंगाजल से धोया गया। घटना सोमवार की है।
सपा विधायक सैय्यदा खातून, जिनके मंदिर में प्रवेश पर मंदिर परिसर को धोया गया।
सपा विधायक सैय्यदा खातून, जिनके मंदिर में प्रवेश पर मंदिर परिसर को धोया गया। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले के एक मंदिर में सपा विधायक सैय्यदा खातून के जाने पर उसे गंगाजल से धोया गया। घटना सोमवार की है। विधायक एक दिन पहले बलवा गांव में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने साम्या माता मंदिर पहुंची थी। वैसे, उनके जाने के एक दिन बाद हिंदू संगठन के सदस्यों और नागरिक अधिकारियों ने मंदिर को गंगाजल से धोया। बढ़नी चाफा नगर पंचायत के चेयरमैन धर्मराज वर्मा का कहना है कि मंदिर श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केंद्र है। लोग समर्पण भाव से यहां आते हैं, जिसका विधायक ने अपमान किया। वह मांसाहारी हैं। उनके दौरे से मंदिर की पवित्रता प्रभावित हुई।

मंदिर प्रशासन ने किया था आमंत्रित: विधायक

पुलिस का कहना है कि हिंदू संगठन के सदस्यों और नागरिक अधिकारियों ने सोमवार को सिद्धार्थनगर के एक मंदिर को गंगाजल से धोया है, उसे शुद्ध करने का प्रयास किया गया। डुमरियागंज से सपा विधायक सैय्यदा खातून के मुताबिक उन्हें बलवा गांव में कार्यक्रम में शामिल होने के लिए साम्य माता मंदिर प्रशासन ने आमंत्रित किया था। हालांकि, राम कथा के बाद स्थानीय पंचायत के अध्यक्ष ने हिंदू संगठनों के सदस्यों के साथ मंदिर का दौरा कर गंगाजल छिड़का। फिर हनुमान चालीसा का पाठ कराया। इतना ही नहीं विधायक के खिलाफ नारे लगाए।

मंदिर हो या मस्जिद जरूर जाऊंगी: विधायक

खातून का कहना है कि मैं सभी धर्मों का सम्मान करती हूं। मैं एक जनप्रतिनिधि हूं। चाहे मंदिर हो या मस्जिद मुझे आमंत्रित किया गया तो मैं वहां जरूर जाऊंगी। बता दें यूपी में ये पहली ऐसी घटना नहीं है। 2018 में भाजपा की दलित महिला विधायक के प्रवेश के बाद हमीरपुर में एक मंदिर को गंगा जल से शुद्ध किया गया था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

रफ़्तार के WhatsApp Channel को सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें Raftaar WhatsApp

Telegram Channel को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें Raftaar Telegram

Related Stories

No stories found.