ईरान से मिली ट्रम्प को मारने की धमकी, क्रूज मिसाइल तैयार करने का दावा

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को जान से मारने की धमकी मिली है। ईरान के शीर्ष कमांडर आमिर अली हाजीजादेह ने यह धमकी देने के साथ क्रूज मिसाइल तैयार करने का दावा किया है।
ईरान से मिली ट्रम्प को मारने की धमकी, क्रूज मिसाइल तैयार करने का दावा

तेहरान, एजेंसी। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को जान से मारने की धमकी मिली है। ईरान के शीर्ष कमांडर आमिर अली हाजीजादेह ने यह धमकी देने के साथ 1650 किलोमीटर दूर तक वार करने की क्षमता रखने वाली एक क्रूज मिसाइल तैयार करने का भी दावा किया है। ट्रम्प के साथ पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो व पूर्व अमेरिकी सैन्य कमांडर कैनेथ फ्रैंक मैकेंजी सहित अन्य अमेरिकी सैन्य अधिकारियों को मारने की धमकी भी दी गई है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को जान से मारने की धमकी
वर्ष 2020 में अमेरिका के ड्रोन हमले में ईरान के तत्कालीन सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी। इसके जवाब में ईरान ने अमेरिकी सेना पर बैलिस्टिक मिसाइल से हमला भी किया था। अब एक बार फिर ईरान के शीर्ष कमांडर आमिर अली हाजीजादेह ने अपने सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने की बात कहते हुए तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को जान से मारने की धमकी दी है। हाजीजादेह ने कहा है कि इसके लिए ईरान ने एक विशेष क्रूज मिसाइल बना ली है, जो 1650 किलोमीटर दूर तक वार कर सकती है। इसके माध्यम से अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ पूर्व विदेश मंत्री माइक पोम्पियो व पूर्व सैन्य कमांडर कैनेथ फ्रैंक मैकेंजी सहित अन्य अमेरिकी सैन्य अधिकारियों को मारने की बात भी कही गयी है।

अमेरिका ने बगदाद पर ड्रोन हमला कर सैन्य कमांडर सुलेमानी की हत्या कर दी
एक टीवी चैनल से बातचीत में ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स एयरोस्पेस फोर्स के मुखिया आमिर अली हाजीजादेह ने कहा कि ईरान उस व्यक्ति को मारने के लिए तैयार हैं, जिसके आदेश पर कमांडर सुलेमानी की हत्या की गई थी। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को नहीं छोड़ने की बात कहते हुए आमिर अली ने साफ कहा कि वह ट्रम्प को मारना चाहता है। आमिर अली ने कहा कि 1650 किलोमीटर की दूरी तक मारक क्षमता रखने वाली क्रूज मिसाइल को इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान के मिसाइल शस्त्रागार में जोड़ा गया है। 2020 को याद करते हुए आमिर अली ने कहा कि ईरान उस समय भी बेकसूर जवानों को मारने का कोई ईरादा नहीं रखता था, किन्तु जब अमेरिका ने बगदाद पर ड्रोन हमला कर सैन्य कमांडर सुलेमानी की हत्या कर दी तो जवाबी कार्रवाई में बैलिस्टिक मिसाइल दागना पड़ा। ट्रम्प को मारने की बात दोहराते हुए ईरान के शीर्ष कमांडर ने कहा कि ट्रम्प ही नहीं, सुलेमानी को मारने का आदेश जारी करने वाले सैन्य कमांडरों को मार दिया जाना चाहिए।

Related Stories

No stories found.