DU के बाद NCERT ने दसवीं क्लास की Books से हटाए लोकतंत्र से जुड़े चैप्टर, जाने क्या है वजह

बोर्ड ने इस संबंध में बताया कि कोरोना वायरस के चलते स्टूडेंट्स पर पढ़ाई का बोझ ना पड़े इसलिए ये निर्णय लिया गया है।
DU के बाद NCERT ने दसवीं क्लास की Books से हटाए लोकतंत्र से जुड़े चैप्टर
DU के बाद NCERT ने दसवीं क्लास की Books से हटाए लोकतंत्र से जुड़े चैप्टर

नई दिल्ली, रफ्तार न्यूज डेस्क। दिल्ली यूनिवर्सिटी के एकेडमिक काउंसिल ने कुछ दिन पहले डीयू के ग्रेजुएशन के सिलेबस में बड़ा बदलाव किया था। काउंसिल ने अपने फैसले में कहा कि डीयू के प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को कवि अल्लामा इकबाल के बारे में नहीं पढ़ाया जाएगा। डीयू प्रशासन ने इसके पीछे की वजह भी बताई थी कि भारत को तोड़ने वाले को सिलेबस में नहीं होना चाहिए। अब इसी तरह की एक बड़ी खबर और सामने आई है, एनसीईआरटी ने दसवीं क्लास की पाठ्यपुस्तक से लोकतंत्र, राजनीतिक पार्टियां और उसके लिए चुनौतियां वाले चैप्टर को हटा दिया है। इस चैप्टर को हटाने का कारण बोर्ड ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते विद्यार्थियों के सेलेबस को कम किया गया है।

लोकतंत्र के बारे में नहीं जाएगा पढ़ाया

नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) ने कहा कि दसवीं क्लास की राजनीतिक पुस्तक से लोकतंत्र, राजनीतिक पार्टियां और लोकतंत्र के लिए चुनौतियां वाले चैप्टर को हटाने का फैसला लिया है। बोर्ड ने इस संबंध में बताया कि कोरोना वायरस के चलते स्टूडेंट्स पर पढ़ाई का बोझ ना पड़े इसलिए ये निर्णय लिया गया है।  

बाबर और औरंगजेब को चैप्टर से गया था हटाया

बता दें एनसीईआरटी ने इससे पहले भी सीबीएसई बोर्ड और यूपी बोर्ड की 12वीं क्लास के पाठ्यपुस्तक में भी बदलाव किया था। बोर्ड ने मुगलकालीन बादशाह बाबर और औरंगजेब को पुस्तक से बाहर करने का फैसला किया था, यानि अब इनके बारे में विद्यार्थियों को पढ़ाया नहीं जाएगा। एनसीईआरटी के इस फैसले पर मुस्लिम धार्मिक नेताओं ने कड़ा ऐतराज जताया था। बता दें इसके अलावा भी कई पाठ्यक्रम को पुस्तकों को हाटाया जा चुका है।

Related Stories

No stories found.