केंद्र सरकार के श्रम संहिता कानून के खिलाफ रामलीला मैदान में एक बार फिर जुटे किसान और मजदूर

महारैली में शामिल हो रहे संगठनों का कहना है कि भाजपा सरकार की ओर से मजदूरों के श्रम कानूनों को समाप्त कर चार श्रम संहिताएं बनाई गई हैं, जो कि पूर्ण रूप से पूंजीपतियों व मालिकों के पक्ष में हैं।
केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ रामलीला मैदान में एक बार फिर जुटे किसान और मजदूर
केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ रामलीला मैदान में एक बार फिर जुटे किसान और मजदूर

नई दिल्ली, एजेंसी। दिल्ली के रामलीला मैदान में एक बार फिर उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा समेत विभिन्न राज्यों के किसान और मजदूर इक्ट्ठा हुए हैं। किसान सभा सहित विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता बीते दिन दिल्ली पहुंच गए थे। वहीं इस महारैली में शामिल हो रहे संगठनों का कहना है कि भाजपा सरकार की ओर से मजदूरों के श्रम कानूनों को समाप्त कर चार श्रम संहिताएं बनाई गई हैं, जो कि पूर्ण रूप से पूंजीपतियों व मालिकों के पक्ष में हैं।

इनका कहना है कि आज मजदूर वर्ग पर सरकार की ओर से लगातार हमला किया जा रहा है। जिसका मजदूर वर्ग पूरी तरह से जवाब देगा। उन्होंने कहा कि ऐसी श्रम साहिताएं लागू की जा रही हैं जिसके अंतर्गत मजदूरों से कंपनी या कार्यस्थल पर 12 घंटे काम कराया जा सकता है। ऐसे में कार्यस्थल पर किसी मजदूर की मौत हो जाती है तो उसके मालिक की गिरफ्तारी नहीं की जा सकेगी। इस तरह के प्रवाधान पूरी तरह से गलत हैं। ये नियम कहीं से भी मजदूरों के पक्ष में नहीं हैं बल्कि मालिकों के पक्ष में है।

अलग-अलग राज्यों से किसान और मजदूर दिल्ली पहुंचे

संगठनों ने कहा कि भाजपा सरकार मजदूर और किसान विरोधी है। किसान नेताओं ने कहा किसान आंदोलन के बाद तय किया गया था कि एमएसपी पर कानून बनाया जाएगा, लेकिन अभी तक एमएसपी पर कानून नहीं बनाया गया है। जिस कारण किसानों को अपनी फसल का लागत मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले ही संयुक्त किसान मोर्चा की महारैली इस मैदान में आयोजित की गई थी, लेकिन बुधवार को रामलीला मैदान में मजदूर किसान संगठन रैली में बड़ी संख्या में देश के अलग-अलग राज्यों से किसान और मजदूर दिल्ली पहुंच चुके हैं। वहीं दिल्ली के रामलीला मैदान पहुंच रहे किसान और मजदूर की रैली को देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की तरफ से कई रूटों को डायवर्ट किया गया है और ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की गई है। जिसमें कई रास्ते बंद किए गए हैं।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जाम से बचने के संबंध में एडवाइजरी जारी की

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के अनुसार लोगों से यह भी अपील की गई है कि जो लोग पहाड़गंज चौक, केजी मार्ग, मिंटो रोड, बाराखंबा और जनपद की तरफ जा रहे हैं, वो इस रास्ते पर जाने से बचे, क्योंकि यहां पर जाम की समस्या रह सकती है। साथ ही जेएलएन मार्ग कमला मार्केट, और हमदर्द चौक, भूमिगत मार्ग, महाराजा रणजीत सिंह मार्ग, और अजमेरी गेट, दिल्ली गेट की तरफ जाने वाले रास्तों पर भी पुलिस की तरफ से एडवाइजरी जारी की गई है। इसके साथ ही रामलीला मैदान के आसपास भारी संख्या में अर्धसैनिक बल, दिल्ली पुलिस के जवान और ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है, ताकि लोगों को असुविधा ना हो।

Related Stories

No stories found.