Cyber Fraud की चपेट में आए बड़े-बड़े लोग, बचना है तो आप रखें इन 5 बातों का ध्यान

साइबर क्राइम देश-विदेश में दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है, आम आदमी से लेकर सेलेब्स तक, कोई भी इसके जाल से बचा नहीं है।
Cyber Crime Alert
Cyber Crime Alertsocial media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। साइबर अपराधी हर दिन अपग्रेड हो रहे हैं। हर दिन लोगों को ठगने का एक नया तरीका लेकर आ रहे हैं। बीते दिनों एक्ट्रेस अंजलि पाटिल साइबर अपराधियों की चपेट में आ गईं और उनको करीब 6 लाख रुपये का नुकसान हो गया। साइबर अपराधी कभी LIC एजेंट बनकर, कभी दूर का रिश्तेदार बनकर तो कभी पुलिस और कस्टम अधिकारी बनकर फोन करते हैं और ठगने की कोशिश करते हैं। थोड़ा अलर्ट रहकर आप इस तरह की ठगी से बच सकते हैं, चलिए जानते हैं कुछ तरीके।

Unknown ईमेल या लिंक पर क्लिक न करें -

इन लिंक्स की मदद से साइबर ठगी करने वाले क्रिमिनल्स आपके डिवाइस को हैक कर लेते हैं। सिस्टम हैक करने के बाद वो आपका सारा डेटा चुरा लेते हैं, उसकी मदद से कई बार वो ब्लैकमेल करते हैं और कई बार बैंक डिटेल्स चुराकर आपसे पैसे लूट लेते हैं।

टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन एक्टिव रखें

आप अपने मोबाइल फोन में मौजूद किसी भी ऐप और अकाउंट में लॉगिन करने के लिए टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन एक्टिव रखें। इससे कोई भी व्यक्ति बिना ऑथेंटिकेशन के आपके फोन को लॉगिन नहीं कर सकेगा और न ही ट्रांजैक्शन कर पाएगा।

पेमेंट के लिए पब्लिक वाई-फाई का प्रयोग न करें

इस डिजिटल युग में अगर आप ऑनलाइन पेमेंट कर रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि पब्लिक वाई-फाई से कनेक्ट कर आप पेमेंट न करें। पब्लिक वाई-फाई से कनेक्ट करने के बाद यदि आप पेमेंट करते हैं तो आपकी लॉगिन आईडी और पासवर्ड हैक होने का खतरा बढ़ जाता है।

बिना जानकारी के QR पर पेमेंट न करें

वॉट्सऐप पर अगर कोई QR कोड भेजे तो उस पर पेमेंट करने में सावधानी बरतें। वैसे तो वॉट्सऐप पर आने वाले कोड्स पर डायरेक्ट पेमेंट 2000 रुपये से ज्यादा नहीं हो सकती है। फिर भी पेमेंट से पहले सुनिश्चित कर लें कि आप किसको पैसे भेज रहे हैं।

अपना पासवर्ड किसी को न बताएं - आपकी डिवाइस पर जितने भी एप्लीकेशन प्रयोग में है जैसे जीमेल अकाउंट यूपीआई या नेट बैंकिंग इन सभी का पासवर्ड हमेशा मजबूत बनाएं, पासवर्ड कभी भी अपने नाम पिता के नाम और अपनी डेट ऑफ बर्थ से न बनाएं।

Related Stories

No stories found.