भारतीय मूल के ब्रिटिश PM ऋषि सुनक ने क्यों लगाया कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में 'जय सियाराम' का नारा?

ब्रिटेन के भारतीय मूल के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने कैंब्रिज विश्वविद्यालय में चल रही प्रसिद्ध कथावाचक मोरारी बापू के रामकथा में भाग लिया।
ब्रिटेन के भारतीय मूल के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक
ब्रिटेन के भारतीय मूल के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक

लंदन, हि.स.। ब्रिटेन के भारतीय मूल के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने कैंब्रिज विश्वविद्यालय में चल रही प्रसिद्ध कथावाचक मोरारी बापू के रामकथा में भाग लिया। हिंदू धर्म के अनुयायी और भारतीय मूल के पहले ब्रिटिश पीएम ऋषि सुनक ने मोरारी बापू की व्यास पीठ पर पुष्पांजलि अर्पित की और जयसिया राम का जयकारा भी लगाया।

सुनक का नाम श्रद्धेय ऋषि शौनक से लिया गया

ब्रिटिश पीएम का स्वागत करते हुए मोरारी बापू ने भगवान हनुमान का आशीर्वाद लिया और सुनक के सेवा को सुविधाजनक बनाने के लिए शक्ति की कामना की। कथा के शुरुआत में मोरारी बापू ने सुनक को केवल पीएम नहीं बल्कि भारतीय मूल के व्यक्ति के रूप में सराहना की। उन्होंने बताया कि सुनक का नाम श्रद्धेय ऋषि शौनक से लिया गया है। उन्हें सुनक को प्रधान मंत्री की भूमिका में देखकर बहुत खुशी मिलती है। उन्होंने सोमनाथ से एक पवित्र शिवलिंग को भेंट किया है।

मैं यहां पर एक प्रधानमंत्री के तौर पर नहीं बल्कि हिंदू के तौर पर आया हूं

इस अवसर पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने कहा कि उनकी हिंदू आस्था उनके जीवन के सभी पहलुओं का मार्गदर्शन करती है और उन्हें देश के शासनाध्यक्ष के तौर पर बेहतरीन कार्य करने की प्रेरणा देती है। सुनक ने ‘रामकथा’ में जुटी भीड़ के सामने अपना संबोधन शुरू करते हुए कहा, ‘‘बापू, मैं यहां पर एक प्रधानमंत्री के तौर पर नहीं बल्कि हिंदू के तौर पर आया हूं।’’

Related Stories

No stories found.