स्कॉटलैंड में खालिस्तानियों ने गुरुद्वारा जा रहे भारतीय उच्चायुक्त को रोका, भारत ने UK से जताई सख्त आपत्ति

Khalistan Supporters: कनाडा में अराजक माहौल बनाने के बाद अब स्कॉटलैंड में खालिस्तान समर्थकों ने ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त को एक गुरुद्वारे में जाने से रोक दिया। इस पर भारत ने UK से आपत्ति जताई।
Vikram Doraiswami
Vikram Doraiswami

एडिनबर्ग, रफ्तार डेस्क (हि.स.)। Indian High Commissioner Stopped By Khalistan Supporters: खालिस्तान समर्थकों के हौसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं। कनाडा में अराजक माहौल बनाने के बाद अब स्कॉटलैंड में खालिस्तान समर्थकों ने ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त को एक गुरुद्वारे में जाने से रोक दिया। भारत ने इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए ब्रिटिश विदेश मंत्रालय व पुलिस के सामने यह मसला उठाया है।

भारतीय उच्चायुक्त को गुरुद्वारे में जाने से रोका

जानकारी के मुताबिक ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम दोराईस्वामी स्कॉटलैंड के सबसे बड़े शहर ग्लासगो में स्थित गुरुद्वारे में गुरुद्वारा समिति के साथ बैठक में भाग लेने आए थे। बैठक के दौरान खालिस्तान से जुड़ी गतिविधियों को लेकर भी चर्चा होनी थी। वे जैसे ही गुरुद्वारे के पास पहुंचे, गुरुद्वारे के बाहर ही खालिस्तान समर्थकों ने उनकी कार को घेर लिया और उन्हें अंदर नहीं जाने दिया। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे घटना के एक वीडियो में खालिस्तान समर्थक गुरुद्वारे के बाहर भारतीय उच्चायुक्त दोराईस्वामी को घेरे दिख रहे हैं और उन्हें गुरुद्वारे में जाने से रोका जा रहा है। इसके बाद दोराईस्वामी ने कोई बहस नहीं की और वे कार में बैठकर वहां से चले गए। उनके जाने के बाद भी खालिस्तान समर्थक उन्हें दोबारा कभी वहां ना आने की हिदायत देते रहे।

भारत ने ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय से मामले पर आपत्ति जताई

भारतीय उच्चायुक्त को रोकने वालों में शामिल एक खालिस्तानी समर्थक ने कहा, हमें पता चला था कि भारत के राजदूत यहां आने वाले हैं। हमारे रोके जाने पर वो कार में बैठकर वापस चले गए। गुरुद्वारे में आने वाले भारत सरकार के किसी भी शख्स के साथ यही होगा, चाहे वो किसी भी बहाने से यहां आ रहे हों। हमें पता है कि वो क्या करना चाह रहे हैं। इस घटना के बाद भारत ने ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय के सामने पूरे मामले पर आपत्ति जताई है। साथ ही पुलिस में भी शिकायत दर्ज करई गई है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें :- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.