हमले के बाद फिर एक्शन में ED, ममता के दो मंत्रियों के घर पड़े छापे

पश्चिम बंगाल में बीते दिनों ED की टीम पर हुए हमले के बाद जांच एजेंसी एक बार फिर से एक्शन के मोड में आ गई है। प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने ममता बनर्जी के दो मंत्रियों के घर धावा बोला है।
West Bengal ED Action
West Bengal ED Action Social media

रफ्तार डेस्क, नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में ईडी अधिकारियों पर छापेमारी के दौरान हमले के बाद एक बार फिर से प्रवर्तन निदेशालय एक्शन के मोड पर नजर आ रहा है। कोर्ट से सुरक्षा मिलने के बाद ईडी की टीम एक बार फिर छापेमारी के लिए पहुंची। ईडी ने पश्चिम बंगाल के अग्निशमन सेवा मंत्री सुजीत बोस के घर छापेमारी की। ईडी ने नगर निकायों में भर्ती घोटाले के मामले में कोलकाता समेत कई जगह पर एक साथ कई ठिकानों पर छापेमारी की है । जानकारी के मुताबिक सुजीत बोस के अलावा टीएमसी प्रवक्ता और विधायक तापस राय और उत्तरी दम दम नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष सुबोध चक्रवर्ती सहित वरिष्ठ टीएमसी नेताओं के घर की तलाशी की जा रही है। ईडी की छापेमारी ऐसे समय पर हो रही है। तब ईडी अधिकारियों पर हमले के बाद से केंद्र और राज्य सरकार एक दूसरे पर हमलावर हैं।

ईडी डायरेक्टर ने दिए साफ निर्देश

ईडी अधिकारियों पर पश्चिम बंगाल में हुए हमले के बाद जांच एजेंसी के कार्यवाहक निदेशक राहुल नवीन कोलकाता पहुंचे थे। उन्होंने अधिकारियों के साथ मीटिंग की। बैठक के दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि डरिए मत निडर होकर जांच करिए । सूत्रों के मुताबिक ईडी के कार्यवाहक निदेशक ने अधिकारियों से एनआई के साथ मिलकर काम करने के लिए भी निर्देश दिए हैं। ताकि शाहजहां शेख से सीमा पर बांग्लादेश के संबंधों की भी जांच की जा सके। जो भी दोषी हो उन्हे सजा दी जा सके।

सीएपीएफ अफसर के साथ हुई बैठक

प्रवर्तन निदेशालय अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद राहुल नवीन ने सीएपीएफ के सुरक्षा कर्मियों के साथ समन्वय बैठक की। बैठक में सीएपीएफ की तैनाती की योजना बनाई गई थी। जो छापेमारी के दौरान ईडी अधिकारियों के साथ जाएगी। कार्यवाहक निदेशक राहुल नवीन ने कहा कि अधिकारियों के साथ महिला पुलिस कर्मियों को भी फोकस किया जाए । ताकि बाधा डालने वाली महिलाओं को हटाया जा सके।

भीड़ ने किया था हमला

आपको बता दें कि ईडी की टीम बीते दिनों राशन घोटाला मामले में पश्चिम बंगाल के संदेशखली में टीएमसी नेता शाहजहां से के घर छापेमारी करने पहुंची थी। इस दौरान ग्रामीणों की भीड़ ने टीम पर हमला किया था ।भीड़ ने ईडी अधिकारियों के साथ सीआरपीएफ जवानों की गाड़ी को भी निशाना बनाया था। इस हमले में तीन ईडी अधिकारियों को गंभीर चोटें आई थी। इसके बाद पश्चिम बंगाल के विपक्ष ने ममता सरकार पर जमकर हमला बोला था।

Related Stories

No stories found.