भूटान नरेश ने गेलेफू शहर परियोजना का किया अनावरण, अब दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया की दूरी होगी कम

Thimphu: भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक ने गेलेफू माइंडफुलनेस सिटी परियोजना का अनावरण किया। यह भारत से दक्षिण पूर्व एशिया तक 1000 वर्ग किमी (2,50,000 एकड़) में फैली है।
Bhutan-India
Bhutan-IndiaSocial Media

थिंपू, हि.स.। भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक ने गेलेफू माइंडफुलनेस सिटी परियोजना का अनावरण किया। यह भारत से दक्षिण पूर्व एशिया तक 1000 वर्ग किमी (2,50,000 एकड़) में फैली है। गेलेफू स्पेशल एडमिनिस्ट्रेशन रीजन से पूरे भूटान को लाभ मिलने के साथ ही यहां की सड़कों, पुलों और हवाई अड्डों जैसे सार्वजनिक बुनियादी ढांचे में महत्वपूर्ण निवेश की आवश्यकता होगी।

यह आर्थिक गलियारा दक्षिण एशिया को दक्षिण पूर्व एशिया से जोड़ता है

भूटान नरेश वांगचुक ने कहा कि गेलेफू की कल्पना आर्थिक केंद्र से कहीं अधिक है। यह भूटान को दुनिया से जोड़ने और देश के भविष्य को आकार देने वाला प्रवेश द्वार बनने की स्थिति में है। इसका लक्ष्य निवेश आकर्षित करना, व्यापार बढ़ाना और रोजगार पैदा करना है। यह गेलेफू या सैमड्रुप जोंगखार से असम और पूर्वोत्तर भारतीय राज्यों को जोड़ते हुए म्यांमार, थाईलैंड, कंबोडिया, लाओस, वियतनाम, मलेशिया और सिंगापुर तक फैला हुआ है। यह एक ऐसा आर्थिक गलियारा बनाता है, जो दक्षिण एशिया को दक्षिण पूर्व एशिया से जोड़ता है।

वांगचुक ने भारत सरकार आभार किया व्यक्त

वांगचुक ने कहा कि मुझे खुशी हो रही है कि मेरी हाल की यात्रा के दौरान भारत सरकार ने भूटान की ओर जाने वाली प्रमुख सड़कों के सुधार और विस्तार के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त की। उन्होंने हमारे दो या तीन सीमावर्ती शहरों को रेलवे लाइनों से जोड़ने का भी वादा किया है। मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत सरकार को उनके समर्थन के लिए आभार व्यक्त करना चाहता हूं। गेलेफू विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (एसएआर) की कल्पना एक स्वायत्त आर्थिक केंद्र के रूप में की गई है, जो आवश्यक कानूनों और नीतियों को आकार देने के अधिकार से संपन्न है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.