USA: अमेरिका में भारतीय छात्र की हत्या, 3 हफ्ते पहले किया अपहरण, फिरौती न मिलने पर उतारा मौत के घाट!

America: अमेरिका में एक बार फिर हमलावरों ने भारतीय छात्र को निशाना बनाया है। पहले मासूम का अपहरण किया फिर घरवालों से फिरौती मांगी। फिरौती न मिलने पर छात्र की निर्मम हत्या कर दी।
Indian Student Found Dead in Ohio, America
Indian Student Found Dead in Ohio, America Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। अमेरिका के ओहियो शहर से एक दिलदहला देने वाली खबर आई है। 25 वर्षीय मोहम्मद अब्दुल अरफ़ात की हत्या को कुछ बदमाशों ने अंजाम दिया। अब्दुल अरफात भारतीय मूल का नागरिका था। पहले हमलावरों ने छात्र का अपहरण किया फिर अज्ञात नम्बर से उसके घरवालों से फिरौती मांगी। फिरौती न मिलने पर छात्र की बेरहमी से हत्या कर दी।

भारतीय मूल के छात्र की दर्दनाक हत्या

अमेरिका में भारतीय दूतावास ने इस बात की पुष्टि की। भारतीय दूतावास ने छात्र की हत्या का शोक व्यक्त किया। भारतीय दूतावास ने "X" पर ट्वीट कर लिखा कि "यह जानकर दुख हुआ कि मोहम्मद अब्दुल अरफ़ात जिनके लिए खोज अभियान चल रहा था। वे क्लीवलैंड, ओहियो में मृत पाए गए। मोहम्मद अरफ़ात के परिवार के प्रति हमारी गहरी संवेदनाएं हैं। @इंडिया इन न्यूयॉर्क मोहम्मद अब्दुल अरफ़ात की मौत की गहन जांच सुनिश्चित करने के लिए स्थानीय एजेंसियों के संपर्क में है। हम उनके पार्थिव शरीर को भारत लाने के लिए शोक में समाय उनके परिवार को हर संभव सहायता दे रहे हैं। "

पहले अपहरण फिर हत्या

द इंडियन ऐक्सप्रैस की खबर के अनुसार, मोहम्मद अब्दुल अरफ़ात नाचाराम, हैदराबाद का मूल निवासी था। पिछले साल मई 2023 में अब्दुल अरफ़ात ने अमेरिका के ओहियो शहर में कदम रखा। छात्र क्लीवलैंड यूनिवर्सिटी में IT प्रोग्राम के लिए मास्टर की पढ़ाई करने गया था। अब्दुल अरफ़ात की उनके परिवार से अंतिम बार 7 मार्च को हुई थी। उसके बाद 19 मार्च को छात्र के परिवार को अज्ञात नम्बर से फोन कॉल आया। बदमाशों ने पुष्टि की कि उन्होंने अब्दुल अरफ़ात का अपहरण कर लिया है और वे लोग ड्रग्स बेचने वाले गिरोह से हैं। अपहरणकर्ताओं ने अब्दुल अरफ़ात के परिवार से $1200 का फिरौती की मांग की।

अमेरिका में सुरक्षा-व्यवस्था में चूंक

अमेरिका में भारतीय छात्र की मौत के आंकड़े दिन ब दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। खासकर छात्रों को लेकर हिसंक मामलों में वृद्धि हुई है। अमेरिका में सुरक्षा-व्यवस्था में चूंक देखी जा रही है। कई बार इन मामलों में रेशल डिसक्रिमीनेशन की पुष्टि हुई है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.