tamil-nadu-government-urged-to-resume-sale-of-chapatis-in-amma-canteens
tamil-nadu-government-urged-to-resume-sale-of-chapatis-in-amma-canteens

तमिलनाडु सरकार ने अम्मा कैंटीन में चपाती की बिक्री फिर से शुरू करने का किया आग्रह

चेन्नई, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। दो राजनीतिक दलों के नेताओं ने शनिवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन को सब्सिडी वाले भोजन बेचने वाली अम्मा कैंटीन के लगातार कामकाज को सुनिश्चित करने के लिए कहा है। यहां जारी एक बयान में, पूर्व मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक के समन्वयक ओ पनीरसेल्वम ने कहा कि स्टालिन को अम्मा कैंटीन पर विशेष ध्यान देना चाहिए और वहां चपाती की बिक्री फिर से शुरू करनी चाहिए। पन्नीरसेल्वम ने कहा कि हाल ही में यहां स्थित अम्मा कैंटीन में चपाती की बिक्री रोक दी गई थी, क्योंकि उन्हें लागत का हवाला देते हुए गेहूं की आपूर्ति नहीं की गई थी। रात के खाने में चपाती की जगह टमाटर चावल या इडली बेची जाती है। अम्मा कैंटीन नाश्ते के लिए इडली (1 रुपये) दी जाती है। मिक्स चावल 5 रुपये और दही चावल 3 रुपये दोपहर के भोजन के लिए दी जाती है और रात के खाने के लिए तीन रोटी 3 रुपये में बेची जाती है। पन्नीरसेल्वम ने कहा कि चेन्नई निगम ने कैंटीन को गेहूं की आपूर्ति बंद कर दी है और कहा जाता है कि अम्मा कैंटीन के संचालन से लगभग 300 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि नुकसान का हवाला देते हुए अम्मा कैंटीन को कमजोर करना सही नहीं है। अपनी ओर से मक्कल निधि मय्यम के नेता कमल हासन ने कहा कि द्रमुक सरकार को राज्य में अम्मा कैंटीन के कामकाज को जारी रखना सुनिश्चित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में अम्मा कैंटीन देखने के बाद कई अन्य राज्यों ने ऐसी कैंटीन लागू की हैं। कमल हासन ने कहा कि चेन्नई निगम अन्य स्रोतों से राजस्व जुटा सकता है और सरकार की ओर से घाटे का हवाला देते हुए ऐसी अच्छी योजनाओं को बंद करना सही नहीं है। --आईएएनएस एचके/एएनएम

Related Stories

No stories found.