pm-modi-to-inaugurate-vibrant-gujarat-global-investors-summit-on-january-10
pm-modi-to-inaugurate-vibrant-gujarat-global-investors-summit-on-january-10

पीएम मोदी 10 जनवरी को वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का उद्घाटन करेंगे

गांधीनगर, 22 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 जनवरी को आत्मनिर्भर गुजरात से आत्मनिर्भर भारत की थीम के साथ गांधीनगर में वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (वीजीजीआईएस) के 10वें संस्करण का उद्घाटन करेंगे। गुजरात सरकार ने सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल की उपस्थिति में 24,185.22 करोड़ रुपये के समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। ऐसा दावा किया जा रहा है कि एमओयू में परियोजनाएं राज्य में 36,925 नए रोजगार सृजित करेंगी। प्रधानमंत्री तीन दिवसीय वीजीजीआईएस के पहले दिन दो गोलमेज सम्मेलनों (राउंडटेबल कॉन्फ्रेंस) को संबोधित करेंगे, जहां वित्तीय संस्थानों के वैश्विक लीडर पहले कार्यक्रम में भाग लेंगे और दूसरे कार्यक्रम में प्रधानमंत्री 15 रूसी गवर्नर को संबोधित करेंगे। अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस), उद्योग और खान विभाग, राजीव कुमार गुप्ता ने कहा, पहले के नौ संस्करणों की तुलना में, इस साल का आयोजन कुछ अलग होगा। यह कोविड महामारी के बाद सबसे बड़ी घटनाओं में से एक होगा और प्रधानमंत्री के नेतृत्व में आयोजित किया जाएगा। गुजरात सरकार का दावा है कि तैयारियों के लिए कम समय के बावजूद इस साल का वाइब्रेंट समिट पिछले शिखर सम्मेलन से बड़ा होगा। यह आयोजन अब तक हर विषम अंक में आयोजित किया जा रहा था, लेकिन वैश्विक महामारी के कारण 2021 का शिखर सम्मेलन रद्द कर दिया गया था। समिट के पहले दिन मोदी ग्लोबल ट्रेड शो का उद्घाटन करेंगे। वह वैश्विक वित्तीय संस्थानों की एक गोलमेज बैठक की अध्यक्षता करेंगे और 15 रूसी गवर्नर की एक और गोलमेज बैठक को संबोधित करेंगे। इसके बाद दोपहर 2 बजे मोदी शिखर सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे। राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, तीन दिवसीय आयोजन से पहले 28,500 से अधिक समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि 2018 में आयोजित शिखर सम्मेलन के नौवें संस्करण में 28,500 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए थे। गुजरात सरकार को पिछले संस्करण की तुलना में अधिक संख्या में समझौते करने की उम्मीद है। गुप्ता ने कहा, इस बार आज से, हम हर हफ्ते (सोमवार को) महत्वपूर्ण और बड़े एमओयू पर हस्ताक्षर करेंगे। यह वाइब्रेंट समिट इवेंट तक जारी रहेगा। वीजीजीआईएस में हम जिन एमओयू पर हस्ताक्षर करते हैं, उनकी सफलता दर 70 प्रतिशत से अधिक है। 11 जनवरी को गतिशक्ति योजना, मेक इन इंडिया और 13 प्रोडक्शन लिंक्ड इन्वेस्टमेंट (पीएलआई) योजनाओं पर चर्चा होगी। एमएसएमई के लिए एक बड़ा सम्मेलन और एक रोड शो उस दिन हेलीपैड ग्राउंड, गांधीनगर में आयोजित किया जाएगा। समापन दिवस (12 जनवरी) पर, चर्चा ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकियों और कृत्रिम बुद्धि (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) पर केंद्रित होगी। इस कार्यक्रम में कई अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय व्यवसायी शामिल होंगे। राज्य सरकार मुख्य शिखर सम्मेलन से पहले 1 दिसंबर से 10 प्री-वाइब्रेंट शिखर सम्मेलन आयोजित करेगी। गुप्ता ने कहा, स्वास्थ्य, कपड़ा, शिक्षा और निर्यात सहित विभिन्न विषयों पर अंतरराष्ट्रीय सेमिनार और कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी। ये प्री-वाइब्रेंट कार्यक्रम 9 जनवरी तक आयोजित किए जाएंगे। इनमें से एक इवेंट गिफ्ट (जीआईएफटी) सिटी में होने वाले स्टार्ट-अप्स पर फोकस करेगा। गुप्ता ने कहा, यह देश में स्टार्ट-अप्स के लिए आयोजित होने वाला इस तरह का सबसे बड़ा आयोजन होगा। --आईएएनएस एकेके/एएनएम

Related Stories

No stories found.