75 साल के पार लोग अब नहीं भरेंगे आईटीआर, बजट में एलान से बुजुर्गों के चेहरे खिले.

people-will-not-fill-itr-beyond-75-years-the-announcement-of-the-budget-blossoms-the-faces-of-the-elderly
people-will-not-fill-itr-beyond-75-years-the-announcement-of-the-budget-blossoms-the-faces-of-the-elderly

- मोदी सरकार में पहली बार वृद्धों को मिली बड़ी राहत, किसान और महिलाओं में भी बजट से खुशी की लहर - बजट में पहली बार सोना चांदी के दाम सस्ता होने से शहर और ग्रामों में महिलाओं ने जय श्रीराम के लगाये नारे हमीरपुर, 01 फरवरी (हि.स.)। लोकसभा में सोमवार को मोदी सरकार की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण जरिये पेश किये गये बजट को लेकर यहां आम लोगों के चेहरे खुशी से खिल उठे है। खासकर 75 साल के पार लोगों के लिये पहली बार कोई आईटीआर न भरने का प्रावधान होने से बुजुर्गों में खुशी देखी जा रही है। वृद्ध पेंशनरों ने कहा कि आजाद भारत में ये व्यवस्था पहली बार हुयी है। श्रमिकों में बजट को लेकर खुशी की लहर है। लोकसभा में वित्त मंत्री के बजट को सुनने के लिये सुबह से लोग टीवी के सामने बैठ गये थे। जैसे ही पचहत्तर साल के पार के लोगों के लिये बजट में कोई भी इनकम टैक्स न दिये जाने का एलान हुआ तो लोग ताली बजाने लगे। हमीरपुर के एक रिटायर्ड कर्मी रामगोपाल कुटार (76) ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा कि कोरोना संक्रमण काल में मोदी सरकार के सभी फैसले एतिहासिक थे। आर्थिक मंदी के बावजूद आज देश में पहली बार 75 साल पार वाले लोगों को आईटीआर न भरने का प्रावधान किया जाना करोड़ों बुजुर्गों के लिये खुशी का पैगाम है। निश्चित ही इस व्यवस्था से सीधा लाभ बुजुर्गों को मिलेगा। हमीरपुर के तत्कालीन एडीएम आरके सिंह ने बताया कि मोदी सरकार में विषम परिस्थितियों के बावजूद आम लोगों का राहत देने वाला बजट पेश हुआ है जिससे किसानों और महिलाओं के साथ वृद्धों को भी सीधा लाभ मिलेगा। तत्कालीन एडीएम दस साल पहले सेवा से रिटायर्ड हो चुके है। इनका कहना है कि इस बजट में आम लोगों के साथ देश हित का भी ख्याल रखा गया है। व्यापारी हरी गुप्ता, मुन्नालाल, दीपू गुप्ता ने कहा कि तांबा, स्टील, लोहे का सामान सस्ता होने का प्रावधान बजट में किये जाने से महंगाई का ग्राफ नीचे गिरेगा और आम लोगों को इसका सीधा फायदा मिलेगा। मोबाइल शाप के मालिक अनिल कुमार ने बताया कि बजट में विदेशी मोबाइल और चार्जर के दाम बढऩे से स्वदेशी मोबाइल कम्पनियों का आगे बढऩे का मौका मिलेगा। रामकुमार, अजीत सहित अन्य कई श्रमिकों ने कहा कि बजट में श्रमिकों के लिये न्यूनतम मजदूरी दिये जाने के प्रावधान से अब अच्छे दिन आयेंगे। जिला स्काउट मास्टर अकबर अली ने बजट पर खुशी जताते कहा कि देश में 15 हजार स्कूलों का कायाकल्प होने से शिक्षा के स्तर पर गुणात्मक सुधार होगा। एलआईसी का काम देख रहे अजय राजपूत व प्रदीप कुमार ने कहा कि पहली बार एलआईसी की बाजार में इन्ट्री होने और इसके शेयर से आम लोगों को बहुत बड़ा फायदा मिलेगा। ये प्रावधान भी देश में पहली बार हुआ है। खाते में सीधे पैसे मिलने से किसान व महिलायें होगी स्वावलम्बी टोडरपुर गांव की मंजू, खैरी की शशि, सौखर के किसान इंदल, पार्वती ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा कि सरकार किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिये पहले से ही काम कर रही है और अब बजट में 4 करोड़ किसानों और महिलाओं को सीधे खाते में पैसे दिये जान का प्रावधान करने से महिलायें अब स्वावलम्बी बनेगी। गांवों के विकास के लिये 40 हजार करोड़ का बजट इस बार रखे जाने से गांवों की सूरत बनेगी। बजट में सोना चांदी सस्ता होने से महिलाओं के चेहरे खिले लोकसभा में वित्त मंत्री के जरिये पेश किये गये बजट में अबकी बार सोना चांदी सस्ते होने पर यहां महिलाओं ने खुशी देखी जा रही है। रेनू, राधा शुक्ला, बीना, गुडिय़ां, शानू शुक्ला, शशि ने बताया कि पिछले कई सालों से सोने चांदी के भाव आसमान छू रहे थे जिससे खरीदना मुश्किल हो गया था। घर का बजट भी बिगड़ गया था लेकिन अब ये आभूषण हम महिलाओं के गले का हार बनेगा। महिलाओं ने कहा कि ये बजट राहत देने वाला है। हिन्दुस्थान समाचार/ पंकज/ मोहित-hindusthansamachar.in

Related Stories

No stories found.