pegasus-like-incident-in-betul-congress-mla
pegasus-like-incident-in-betul-congress-mla

बैतूल में पेगासस जैसा कांड: कांग्रेस विधायक

बैतूल, 11 फरवरी (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के बैतूल जिले की पुलिस पर अवैध तरीके से जन प्रतिनिधियों सहित 52 लोगों की कॉल डिटेल रिकार्ड (सीडीआर) निकालने का आरोप लगा हैं। यह आरोप लगाते हुए कांग्रेस के विधायक निलय विनेाद डागा ने इसकी तुलना पेगासस कांड से की है। हालांकि, पुलिस ने इन आरोपों को निराधार बताया है। कांग्रेस विधायक निलय डागा ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बैतूल में भी पेगासस कांड हुआ है और इसकी जद में 52 जनप्रतिनिधि, व्यापारी व पत्रकार आए है जिनकी पुलिस ने अवैध तरीके से सीडीआर निकलवाई है। विधायक डागा ने कहा कि बगैर एफआईआर हुए किसी की भी सीडीआर नहीं निकाली जा सकती है। इसलिए इस बात की पूरी आशंका है पुलिस ने सभी को कहीं न कहीं किसी न किसी मामले का आरोपी बताकर सीडीआर निकलवाई है। इसमें उनका भी नाम शामिल हैं और भाजपा सांसद डीडी उइके का भी। उन्होंने सवाल खड़ा किया कि पुलिस ने आखिर इनकी सीडीआर क्यों निकलवाई? क्या पुलिस ब्लैकमेल करना चाहती है या डराना चाहती है? डागा ने कहा कि इस मामले की जांच होना चाहिए, इसके लिए उन्होंने पुलिस महानिदेशक को शिकायत की है। उन्होंने शिकायत में मांग की है कि इस बात की जांच की जाएं कि किसके आदेश पर यह सीडीआर निकलवाई गई है और उक्त अधिकारी को बर्खास्त किया जाए। उन्होंने आगे कहा कि वे इस मुद्दे को लेकर धरने पर बैठेंगे, विधानसभा में उठाएंगे और फिर भी कुछ नहीं होता है तो न्यायालय में भी जाएंगे। इस मुददे को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी चर्चा की गई है। कांग्रेस पूरे प्रदेश में यह मुद्दा उठाएगी। विधायक डागा ने पुलिस को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि जिले में कानून व्यवस्था बिल्कुल लचर हो चुकी है। लगातार चोरियां, डकैती, हत्या के मामले बढ़ रहे हैं। एटीएम कांड में न रुपये बरामद हुए और न ही आरोपी गिरफ्तार हुए। एक ड्राइवर भर को पुलिस ने पकड़ा, जिसकी रिमांड खत्म हो गई, पर कोई जानकारी नहीं। शहर में युवतियों और बालिकाओं का सड़क पर निकलना मुश्किल है। पुलिस का इस ओर कोई ध्यान नहीं है बल्कि वह झूठी वाहवाही लूटने में लगी है। दूसरी ओर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी ने विधायक के आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि अपराध में संदिग्धों के सीडीआर निकाली जाती हैं। विधायक और अन्य जनप्रतिनिधि की सीडीआर नहीं निकाली गई है। --आईएएनएस एसएनपी/आरजेएस

Related Stories

No stories found.