mps-should-keep-dignity-while-commenting-on-posture---om-birla
mps-should-keep-dignity-while-commenting-on-posture---om-birla

आसन पर टिप्पणी करते समय सांसदों को रखना चाहिए मर्यादा का ध्यान - ओम बिरला

नई दिल्ली, 7 अप्रैल (आईएएनएस)। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सांसदों को नसीहत देते हुए कहा है कि आसन ( लोक सभा अध्यक्ष ) पर टिप्पणी करते समय सांसदों को मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए। लोक सभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने के बाद मीडिया से बात करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने बजट सत्र के दौरान 129 प्रतिशत काम होने का जिक्र करते हुए कहा कि यह देश की सर्वोच्च संस्था है, इसलिए सदन की मयार्दा और गरिमा बनाए रखना हम सबका कर्तव्य है ताकि देश के और सदनों में भी मर्यादा और गरिमा बनी रहे। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास होता है कि सदन निर्बाध रूप से बिना व्यवधान के सुचारू रूप से चले। सदन में चर्चा संवाद हो, अच्छा वाद-विवाद हो क्योंकि यह देश की सर्वोच्च संस्था है। लोक सभा अध्यक्ष ने सदन में रिकॉर्ड कामकाज होने का जिक्र करते हुए कहा कि सदन के बजट सत्र में 129 प्रतिशत कामकाज हुआ है। उन्होंने कहा कि 17वीं लोक सभा के अब तक हुए कुल आठों सत्र में कुल मिलाकर 106 प्रतिशत कामकाज हुआ है। लोक सभा अध्यक्ष ने सदन के कामकाज के बारे में बताते हुए कहा कि बजट सत्र के दौरान बजट ( वित्त विधेयक, 2022 ) के अलावा दिल्ली नगर निगम (संशोधन) विधेयक, 2022, दंड प्रकिया (शिनाख्त) विधेयक, 2022 और सामूहिक संहार के आयुध और उनकी परिदान प्रणाली (विधि विरूद्ध क्रियाकलापों का प्रतिषेध) संशोधन विधेयक, 2022 सहित कुल 13 विधेयकों को लोक सभा ने पारित किया। इस दौरान सरकार की तरफ से 12 सरकारी विधेयक सदन में पेश किए गए। सत्र के दौरान लोक सभा ने कुल मिलाकर 40 घंटे देर तक बैठकर महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा संवाद किया। उन्होंने बताया कि देश के सभी विधानमंडलों की कार्रवाई को एक प्लेटफॉर्म पर लाने की कोशिश की जा रही है और यह काम 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है। इससे पहले लोक सभा में सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने से पहले सदन में बिरला ने बजट सत्र के सफल संचालन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी और सभी दलों के नेताओं को धन्यवाद देते हुए कहा कि यह सत्र 31 जनवरी, 2022 को आरंभ हुआ था। इस सत्र के दौरान, कुल 27 बैठकें हुईं, जो लगभग 177 घंटे 50 मिनट तक चलीं। सत्र के दौरान 182 तारांकित प्रश्नों के मौखिक उत्तर दिए गए। प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के लाभार्थियों के संबंध में एक आधे घंटे की चर्चा दिनांक 11 फरवरी, 2022 को की गई। लोक सभा अध्यक्ष ने बताया कि 31 जनवरी, 2022 को सत्र के पहले दिन राष्ट्रपति ने संसद की दोनों सभाओं की केन्द्रीय कक्ष में हुई संयुक्त बैठक को संबोधित किया। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर 2, 3, 4 और 7 फरवरी, 2022 को चर्चा हुई। कुल 15 घंटे 13 मिनट की चर्चा के बाद, 7 फरवरी, 2022 को ध्वनि मत से धन्यवाद प्रस्ताव पारित हुआ। 1 फरवरी, 2022 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन द्वारा वर्ष 2022-2023 के लिए केन्द्रीय बजट पेश किया गया। जिस पर 7, 8, 9 और 10 फरवरी, 2022 को कुल 15 घंटे 35 मिनट तक चर्चा चली। अनुदानों की अनुपूरक मांगों एवं अनुदानों की अतिरिक्त मांगों को भी इस सत्र में मतदान के बाद पारित किया गया। इसके अतिरिक्त जम्मू कश्मीर संघ राज्य क्षेत्र के लिए अनुदान मांगों (2022-23) तथा अनुदानों की अनुपूरक मांगों (2021-22) को भी मतदान के बाद पारित किया गया। आपको बता दें कि, संसद का वर्तमान बजट सत्र 31 जनवरी को शुरू हुआ था और यह दो चरणों में आयोजित किया गया था। पहले चरण के तहत, संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही, राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ 31 जनवरी को शुरू हुआ था जो 11 फरवरी तक चला था। कोरोना के खतरे के मद्देनजर बजट सत्र का पहला चरण दो पालियों में आयोजित किया था। लेकिन कोरोना महामारी की संख्या में आ रही कमी और कोविड टीकाकरण की रफ्तार को देखते हुए संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में दो पालियों वाली व्यवस्था समाप्त कर दी गई और पहले की भांति ही दूसरे चरण में दोनों सदनों की कार्यवाही 11 बजे शुरू करने का फैसला किया गया। बजट सत्र का दूसरा चरण 14 मार्च से शुरू हुआ था और निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार इसे 8 अप्रैल तक चलाया जाना था लेकिन लेकिन इसे एक दिन पहले गुरुवार को ही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया। --आईएएनएस एसटीपी/एएनएम

Related Stories

No stories found.