modi-advises-bjp-office-bearers-work-hard-to-live-up-to-the-expectations-of-130-crore-indians
modi-advises-bjp-office-bearers-work-hard-to-live-up-to-the-expectations-of-130-crore-indians

मोदी ने दी भाजपा पदाधिकारियों को सलाह: 130 करोड़ भारतीयों की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिये कड़ी मेहनत करें

जयपुर, 20 मई (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुये कहा कि उन्हें देश के 130 करोड़ लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिये कड़ी मेहनत करनी चाहिए। जयपुर में आयोजित भाजपा पदाधिकारियों की बैठक को प्रधानमंत्री ने डिजिटली संबोधित किया। उन्होंने कहा कि यहां तक कि पूरी दुनिया भारत की ओर बड़ी उम्मीद से देखती है। मोदी ने कहा, लोगों की यही आकांक्षायें हमारी जिम्मेदारी बढ़ा देती हैं। देश ने अपने लिये अगले 25 साल का लक्ष्य निर्धारित किया है और भाजपा को भी आने वाले वर्षो के लिये अपना लक्ष्य तय करना चाहिए। लोगों की उम्मीदें पूरी होनी चाहिए। देश के समक्ष उत्पन्न चुनौतियों को लोगों के साथ मिलकर खत्म करना चाहिए। उन्होंने कहा, हमारा सिद्धांत पंडित दीनदयाल उपाध्याय का अभिन्न मानवतावाद है। हमारा मंत्र सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास और सबका प्रयास है। मोदी ने राजस्थान में पूर्व की कांग्रेस सरकार पर तंज करते हुए कहा कि उनकी कोई भी जवाबदेही नहीं रही और जनता ने भी उनसे कोई उम्मीद नहीं की थी। उन्होंने कहा, वर्ष 2014 के बाद भाजपा देश को निराशा के दौर से बाहर लेकर आई। देश की जनता अब परिणाम को अपनी नजरों के सामने देखना चाहती है। मैं इसे राजनीतिक लाभ और हानि से परे बहुत ही सकारात्मक परिवर्तन मानता हूं। लोगों की उम्मीदें जब बढ़ जाती हैं, तब सरकार के लिए काम करना जरूरी हो जाता है। मोदी ने कहा कि जनता की जागरूकता अपने साथ दबाव लेकर आती है लेकिन यह प्रेरित भी करती है। उम्मीदें जब बढ़ती हैं, तो कठिन परिश्रम से उसे पूरा करने का उत्साह भी बढ़ता है। यही भावना देश को नई ऊंचाइयों पर ले जायेगी। उन्होंने कहा, भाजपा कार्यकर्ता के रूप में, हमें शांति से बैठने का कोई अधिकार नहीं है। देश के 18 राज्यों में भाजपा की सरकार है। भाजपा के 1,300 से अधिक विधायक और 400 से अधिक सांसद हैं। इन सभी सफलताओं को देखकर कोई यह सोच सकता है कि अब काफी हो गया है। हमें अगर सत्ता का आनंद लेना है तो कोई आराम करने की सोच सकता है। हमें यह राह मंजूर नहीं। विजय का परचम लहराने के बाद भी हम आतुर हैं, व्यग्र हैं। हम आतुर हैं क्योंकि हमारा लक्ष्य देश को उन नई ऊंचाइयों पर ले जाना है, जिसका सपना देश की आजादी के लिये जान गंवाने वाले लोगों ने देखा था। प्रधानमंत्री ने कहा,कुछ राजनीतिक दल समाज की खामियों को तलाश कर कभी जातिवाद तो कभी धर्म आदि के नाम पर उस कमजोरी को भुनाना चाहते हैं। हमें इस तरह के लोगों से सावधान रहना होगा। हमें एक भारत, श्रेष्ठ भारत के लक्ष्य को हासिल करने के लिये बढ़ना है। उन्होंने कहा, आपको भ्रमित करने की कोशिशें होंगी लेकिन आपको देश के विकास के लिये मजबूती से खड़ा होना होगा। कुछ दल मुख्य मुद्दों से भटकाने के लिए काम कर रहे हैं। हमें ऐसे जाल में फंसने से बचने की कोशिश करनी होगी। हमें विकास के मुद्दों से ही जुड़े रहना है। इसी से हम विकास आधारित राजनीति पर फोकस कर पायेंगे। हमें अधिक से अधिक लोगों को भाजपा से जोड़ने की जरूरत है। मोदी ने इस अवसर पर जनता को चेतावनी दी कि वे परिवारवादी राजनीतिक दलों से बचें क्योंकि उन्होंने देश का बहुत अधिक कीमती समय बर्बाद किया है और देश को क्षति पहुंचाई है। उन्होंने कहा,ऐसे लोगों का जीवन परिवार के कारण शुरू होता है और सबकुछ परिवार के लिए ही होता है। भाजपा को इन पार्टियों के खिलाफ लड़ना है। ये पार्टियां लोकतंत्र के लिए खतरनाक हैं। --आईएएनएस एकेएस/एमएसए

Related Stories

No stories found.