Laxmanpuri entrepreneurs open their vault to build Shri Ram temple
Laxmanpuri entrepreneurs open their vault to build Shri Ram temple

लक्ष्मणपुरी के उद्यमियों ने श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए खोली अपनी तिजोरी

लखनऊ, 16 जनवरी (हि.स.)। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए लक्ष्मणपुरी (लखनऊ) के उद्यमियों ने भी अपनी तिजोरी की झोली खोल दी है। शनिवार को भी श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य व दिव्य मंदिर निर्माण के लिए समर्पण राशि देने का सिलसिला जारी रहा। उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध उद्यमी ‘ज्ञान डेयरी’ के मालिक जय अग्रवाल व अनुज अग्रवाल ने श्रीराम मंदिर के लिए अपनी तिजोरी से 25 लाख रूपये का चेक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले को सौंपा। वहीं पद्मश्री व सरकार डायग्नोस्टिक के मालिक डाॅ. सब्य साची सरकार ने श्री होसबोले को 11 लाख रूपये का चेक सौंपा और कहा कि ‘आज मैं धन्य हो गया। इस मौके पर आरएसएस के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले के साथ प्रान्त प्रचारक कौशल कुमार, निधि समर्पण अभियान के सह प्रभारी प्रशान्त भाटिया समेत अन्य प्रमुख पदाधिकारी उपस्थित रहे। ज्ञान डेयरी के मालिक जय अग्रवाल व अनुज अग्रवाल ने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण करोड़ों हिन्दुओं का आस्था केन्द्र है। इस निमित्त समर्पण राशि देना हमारे परिवार के लिए सौभाग्य का दिन है। पद्मश्री सब्य साॅची सरकार ने कहा कि लम्बे समय से इस गौरव क्षण का इंतजार था, जो आज पूरा हो रहा है। इस पुनीत कार्य के लिए हर सम्भव और निरन्तर सहयोग बना रहेगा। इसके अलावा बाबू बनारसी दास ग्रुप के निदेशक डाॅ. अलका दास, अरविन्द जैन समेत अन्य उद्यमियों ने भी मंदिर निर्माण के लिए समर्पण राशि भेंट की। इस अवसर पर सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने कहा कि श्रीराम के कार्य के लिए निकले हैं। अयोध्या में भव्य व दिव्य राम मंदिर बनेगा। इसके लिए पूरे भारतीय समाज का सहयोग और साधू सन्तों का आशीर्वाद मिल रहा है। अवध प्रान्त के निधि समर्पण अभियान के सह प्रभारी प्रशान्त भाटिया ने बताया कि पारदर्शिता बनाए रखने के लिए 10 रुपये, 100 रुपये और 1000 रुपये के कूपन जारी किये हैं। एक हजार से अधिक की राशि रसीद के माध्यम से स्वीकार की जायेगी, जबकि 20 हजार से अधिक की राशि अकाउंट पेई चेक या ऑनलाइन ट्रांसफर द्वारा स्वीकार की जा रही है। कूपन और रसीद पर भगवान राम की एक हाथ में धनुष लिये और दूसरे हाथ से आशीर्वाद देती आदमकद तस्वीर, राम मंदिर का मॉडल एवं ट्रस्ट का लोगो भी छपा है। इस अभियान के माध्यम से करोड़ों रामभक्तों का डाटा भी तैयार किया जाएगा। रसीद और कूपन देने के साथ समर्पणकर्ता का नाम, पता एवं मोबाइल नंबर संग्रहित किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश-hindusthansamachar.in

Related Stories

No stories found.