jharkhand-elders-club-formed-in-six-blocks-of-jamtara-removing-the-loneliness-of-the-elderly-the-model-will-be-applicable-in-other-districts-as-well
jharkhand-elders-club-formed-in-six-blocks-of-jamtara-removing-the-loneliness-of-the-elderly-the-model-will-be-applicable-in-other-districts-as-well

झारखंड: बुजुर्गों का एकाकीपन दूर कर रहे जामताड़ा के छह प्रखंडों में बने एल्डर्स क्लब, दूसरे जिलों में भी लागू होगा मॉडल

रांची, 23 मार्च (आईएएनएस)। झारखंड के जामताड़ा जिले में बुजुर्गों का एकाकीपन दूर करने के लिए अनूठी पहल हुई है। जिले के सभी छह प्रखंडों में प्रशासन ने एल्डर्स क्लब स्थापित किया है, जहां बुजुर्गों को एक छत के नीचे कई जरूरी सुविधाएं हासिल हो रही हैं। ओल्ड एज पेंशन से लेकरजन्म मृत्यु निबंधन, ई-पेंशन, कम्युनिटी लाइब्रेरी और इनडोर एवं आउटडोर गेम्स के साधन यहां मुहैया कराये गये हैं। राज्य सरकार को भी जामताड़ा जिला प्रशासन को यह पहल पसंद आयी है और जल्द ही यह मॉडल राज्य के दूसरे जिलों में भी लागू किया जा सकता है। जामताड़ा के उपायुक्त फैज अहमद बताते हैं कि बीते 15 नवंबर को झारखंड स्थापना दिवस के दौरान बुजुर्गों से संवाद के दौरान उनके लिए प्रखंड स्तर पर एल्डर्स क्लब बनाने का विचार आया। इसके अगले ही दिन हमने इस दिशा में पहल की। सभी प्रखंडों में ऐसे सरकारी भवनों को चिह्न्ति किया गया, जो अलग-अलग वजहों से खाली या अनुपयोगी पड़े थे। 15वें वित्त आयोग और समाज के लोगों से प्राप्त स्वैच्छिक सहयोग की राशि से इन भवनों का जीर्णोद्धार और नये तरीके से रंग-रोगन कर इन्हें एल्डर्स क्लब के रूप में विकसित करने का काम शुरू किया गया। जिले के सभी छह प्रखंडों जामताड़ा, नारायणपुर, करमाटांड़ (विद्यासागर), फतेहपुर, नाला एवं कुंडहित में खोले गये एल्डर्स क्लब में सोफा, कुर्सी, टीवी, कैरमबोर्ड, लुडो, शतरंज, समाचार पत्र-पत्रिकाएं, किताबें जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। इन क्लबों में अब हर रोज बड़ी संख्या में बुजुर्ग पहुंचते हैं। प्रखंड के 60 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिक क्लब के सदस्य होते हैं। इनके लिए जामताड़ा जिला प्रशासन की वेबसाइट पर एक अलग सेक्शन शुरू किया गया है, जिसमें ओल्ड एज पेंशन, जन्म मृत्यु निबंधन, झारसेवा, ई-पेंशन, डिस्ट्रिक्ट पोर्टल के अतिरिक्त कम्युनिटी लाइब्रेरी के लिए लिंक दिया गया है। ये सभी सुविधाएं नि:शुल्क उपलब्ध करायी जा रही हैं। प्रत्येक क्लब के संचालन के लिए मैनेजमेंट और मेंटनेंस कमेटी बनाई गई है। यह कमेटी हर माह क्लब में एक हेल्थ कैंप लगाती है। बुजुर्गों की परेशानियों को साझा करने के लिए काउंसलिंग सेवा भी दी जा रही है। --आईएएनएस एसएनसी/एएनएम

Related Stories

No stories found.