governor-weeping-with-violence-stricken-family-in-nandigram-warns-of-use-of-constitutional-rights
governor-weeping-with-violence-stricken-family-in-nandigram-warns-of-use-of-constitutional-rights

नंदीग्राम में हिंसा पीड़ित परिवार से मिलकर रो पड़े राज्यपाल, संविधान के अधिकारों के इस्तेमाल की दी चेतावनी

तृणमूल कांग्रेस ने राज्यपाल धनखड़ को बताया बूढ़ा और हताश कोलकाता, 15 मई (हि.स.)। पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा पीड़ित लोगों से राज्यपाल जगदीप धनखड़ मुलाकात कर उनका दर्द सुनकर उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दे रहे हैं। शनिवार को नंदीग्राम में हिंसा पीड़ित परिवार का दर्द सुनकर राज्यपाल धनखड़ रो पड़े। शनिवार को बीएसएफ के हेलीकॉप्टर से हरिपुर पहुंचे धनखड़ ने एक नंबर ब्लॉक में हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता के मां-बाप से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान अपनी व्यथा कहते-कहते पीड़ित परिवार के बिलखने पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ के भी आंसू बहने लगे। राज्यपाल ने चेतावनी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मानवता के खिलाफ बर्बर हिंसा को देख कर भी आंख बंद कर रही हैं। सब कुछ सरकार के संरक्षण में हो रहा है। अगर हालात ऐसे ही रहें तो उन्हें संविधान से मिली ताकत का इस्तेमाल करना पड़ेगा। राज्यपाल के इस बयान पर सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने पलटवार किया है। पार्टी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा है कि राज्यपाल बूढ़े और हताश हैं, इसीलिए इस तरह की बातें कर रहे हैं। उन्हें संविधान से कोई लेना-देना नहीं। वे भाजपा के एजेंट के तौर पर अपना कर्तव्य निभा रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश

Related Stories

No stories found.