गोरखालैंड प्रादेशिक प्रशासन चुनाव 26 जून को, 29 जून को होगी मतगणना

gorkhaland-territorial-administration-elections-on-june-26-counting-of-votes-on-june-29
gorkhaland-territorial-administration-elections-on-june-26-counting-of-votes-on-june-29

कोलकाता, 24 मई (आईएएनएस)। दार्जिलिंग की पहाड़ियों में गोरखालैंड प्रादेशिक प्रशासन (जीटीए) के लिए बहुप्रतीक्षित चुनाव 26 जून को होंगे और मतगणना 29 जून को होगी। इसकी घोषणा मंगलवार को की गई। जलपाईगुड़ी के संभागीय आयुक्त ए. आर. वर्धन ने इस संबंध में दार्जिलिंग के जिलाधिकारी कार्यालय में सर्वदलीय बैठक की। बीजेपी जैसे राष्ट्रीय दल के अलावा गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) और गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट (जीएनएलएफ) जैसी पहाड़ी राजनीतिक ताकतें जीटीए चुनावों का विरोध कर रही हैं। उनके अनुसार, स्थायी राजनीतिक समाधान के बिना जीटीए के चुनाव अप्रासंगिक होंगे। हालांकि, राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के साथ ही हमरो पार्टी, भारतीय गोरखा प्रजातांत्रिक मोर्चा, जन आंदोलन पार्टी और भारतीय गोरखा सुरक्षा परिषद जैसी अन्य पहाड़ी राजनीतिक दल तत्काल जीटीए चुनावों के पक्ष में हैं। इस साल मार्च में दार्जिलिंग नगरपालिका चुनावों के बाद हमरो पार्टी वर्तमान में पहाड़ियों में सबसे प्रमुख राजनीतिक ताकत है, जहां उसने 32 में से 18 वाडरें में जीत हासिल की थी। दूसरी ओर, अनीत थापा द्वारा स्थापित भारतीय गोरखा प्रजातांत्रिक मोर्चा वर्तमान में दार्जिलिंग में नौ पार्षदों के साथ मुख्य विपक्षी दल है। इसलिए, दार्जिलिंग नगर पालिका में सत्ताधारी और प्रमुख विपक्षी दल दोनों वर्तमान में जीटीए चुनावों के पक्ष में हैं। राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार, अगर पश्चिम बंगाल सरकार जीटीए चुनावों को सफलतापूर्वक पूरा कर लेती है, तो सत्ताधारी तृणमूल अन्य पार्टियों पर राजनीतिक बढ़त बनाए रखेगी। जीटीए को स्वायत्तता देकर अलग गोरखालैंड की मांग को कम से कम 2024 के लोकसभा चुनाव तक लंबे समय तक टाला जा सकता है। --आईएएनएस एकेके/एएनएम

Related Stories

No stories found.