Kartik Purnima पर गंगा स्नान कर श्रद्धालुओं ने सुरंग में फंसे मजदूरों की मांगी सलामती, दीपों से रोशन ये शहर

Kartik Purnima Video:सनातन धर्म में हर महीने पूर्णिमा पड़ती है, लेकिन कार्तिक पूर्णिमा का अलग महत्व है। यह भगवान विष्णु की उपासना के लिए उत्तम माना जाता है।
कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान करते श्रद्धालु एवं उत्तरकाशी की सुरंग में फंसे मजदूर।
कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान करते श्रद्धालु एवं उत्तरकाशी की सुरंग में फंसे मजदूर। रफ्तार।

नई दिल्ली,रफ्तार। सनातन धर्म में हर महीने पूर्णिमा पड़ती है, लेकिन कार्तिक पूर्णिमा का अलग महत्व है। यह भगवान विष्णु की उपासना के लिए उत्तम माना जाता है। मान्यता है कि अगर आप कार्तिक पूर्णिमा पर पवित्र नदी में स्नान और दान देते हैं तो आपकी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। इस बार कार्तिक पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 26 नवंबर को दोपहर 3.53 बजे से 27 नवंबर की दोपहर 2.45 बजे तक रहेगा। भक्तों ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई है। प्रधानमंत्री ने देशवासियों को कार्तिक पूर्णिमा और देव दीपावली पर शुभकामनाएं दी हैं।

हरिद्वार में हर की पौड़ी पर 21 हजार दीप जलाए

हरिद्वार में कार्तिक पूर्णिमा पर भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने गंगा में स्नान किया। देव दिवाली पर भक्तों ने हरिद्वार में हर की पौड़ी पर 21 हजार दीप जलाए और उत्तराकाशी सुरंग में फंसे मजदूरों के लिए प्रार्थना की है। कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने वाराणसी में गंगा नदी में पवित्र डुबकी लगाई। श्रद्धालुओं ने हापुड़ में गंगा नदी में पवित्र स्नान किए हैं।

पीएम ने दीं शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्स (पहले ट्विटर) पर पोस्ट किया- श्रद्धा, भक्ति और दैवीय उपासना की भारतीय परंपरा से प्रकाशित पावन पर्व कार्तिक पूर्णिमा एवं देव दीपावली की असीम शुभकामनाएं। मेरी कामना है कि यह पावन अवसर देशभर के मेरे परिवारजनों के जीवन में नई रौनक और स्फूर्ति लेकर आए।

दीपों की रोशनी से जगमगाया तमिलनाडु और ओडिशा

कार्तिगई दीपम के त्योहार पर तमिलनाडु के कोयंबटूर में ईशा आश्रम हजारों दीपों की रोशनी से जगमगाया है। जनता और ईशा स्वयंसेवकों ने ध्यानलिंग और लिंग भैरवी मंदिरों, तीर्थकुंड, नंदी, आदियोगी और ईशा के अन्य स्थानों पर मिट्टी के दीये जलाकर त्योहार मनाया। वहीं, कार्तिक पूर्णिमा पर रेत कलाकार सुदर्शन पटनायक ने ओडिशा की पुरी में फूलों के साथ बोइता (पारंपरिक नाव) की रेत से कलाकृति बनाई।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

रफ़्तार के WhatsApp Channel को सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें Raftaar WhatsApp

Telegram Channel को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें Raftaar Telegram

Related Stories

No stories found.