बीएसएफ ने जम्मू में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर 2012 से अब तक 11 सुरंगों का पता लगाया (लीड-1)

bsf-unearths-11-tunnels-along-international-border-in-jammu-since-2012-lead-1
bsf-unearths-11-tunnels-along-international-border-in-jammu-since-2012-lead-1

जम्मू, 5 मई (आईएएनएस)। जम्मू के सांबा सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा (आईबी) पर 2012 के बाद से 11वीं सुरंग का पता चलने के बाद बीएसएफ अपने पाकिस्तानी समकक्ष के साथ कड़ा विरोध दर्ज कराएगी। बुधवार को एक सुरंग का पता चला था। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), जम्मू के महानिरीक्षक डी. के. बूरा ने गुरुवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सुरंग का पता लगाना एक बड़ी सफलता है और यह सैनिकों की सतर्कता को साबित करता है। उन्होंने कहा, हम इस मुद्दे पर पाकिस्तान के समक्ष कड़ा विरोध दर्ज कराएंगे। उन्होंने कहा कि 2012 से जम्मू में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ ने 11 सुरंगों का पता लगाया है। उन्होंने कहा कि यह अटकलें लगाई जा रही हैं कि अप्रैल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू यात्रा से पहले सुंजवां में हमले को अंजाम देने के लिए आतंकवादियों ने इस सुरंग का इस्तेमाल भारत में घुसपैठ करने के लिए किया था। उन्होंने कहा, इस सुरंग को सुंजवां हमले से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन यह सिर्फ एक अटकल है और अभी तक इसे लेकर कोई सबूत सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि सांबा में सुरंग पर के आसापास रेत पर कोई निशान नहीं पाए गए हैं। इससे पहले दिन में, बीएसएफ ने कहा कि उसके सैनिकों ने सुरंग का पता लगाने के बाद आगामी अमरनाथ यात्रा को बाधित करने के पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों के मंसूबों को नाकाम कर दिया। बीएसएफ के प्रवक्ता, पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) एस. पी. एस. संधू ने एक बयान में कहा, पाकिस्तान के नापाक मंसूबों में सेंध लगाते हुए बीएसएफ जम्मू ने 4 मई 2022 को सांबा इलाके के सामने बीओपी चक फकीरा के इलाके में क्रॉस बॉर्डर सुरंग का पता लगाया। बीएसएफ ने कहा कि डेढ़ साल से भी कम समय में यह पांचवीं सुरंग है, जिसका पता लगाया गया है। संधू ने आगे कहा, इस सुरंग का पता लगाना इस क्षेत्र में किए गए एक पखवाड़े लंबे सुरंग विरोधी अभ्यास के दौरान बीएसएफ सैनिकों के कठोर और लगातार प्रयासों का परिणाम है। इस सुरंग को हाल ही में खोदा गया है और इसके पाकिस्तान की ओर से लगभग 150 मीटर लंबी होने का संदेह है। उन्होंने कहा, इस सुरंग का पता लगाने के साथ, बीएसएफ जम्मू ने आगामी अमरनाथ जी यात्रा को बाधित करने के लिए पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों के नापाक मंसूबों को विफल कर दिया है। सुरंग के आकार के बारे में विवरण देते हुए, डीआईजी ने कहा, सुरंग की ओपनिंग लगभग 2 फीट है और अब तक 21 रेत के थैले बरामद किए गए हैं, जिनका उपयोग सुरंग के निकास को मजबूत करने के लिए किया गया था। दिन में सुरंग की विस्तृत तलाशी ली जाएगी। उन्होंने कहा कि आगे भी संभावित सुरंगों का पता लगाने के लिए बीएसएफ के प्रयास जारी रहेंगे। --आईएएनएस एकेके/एएनएम

Related Stories

No stories found.