National Youth Day: स्वामी विवेकानंद की जयंती के दिन क्यों मनाते हैं युवा दिवस?

भारत में 12 जनवरी 2024 को स्वामी विवेकानंद जयंती को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाएगा। स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार जीवन को बदलने में अहम भूमिका निभाते हैं।
Swami Vivekanand jayanti 12 January
Swami Vivekanand jayanti 12 January Social media

रफ्तार डेस्क, नई दिल्ली। स्वामी विवेकानंद की जयंती पर देश के युवाओं को प्रेरित करने के उद्देश्य से राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है भारत के महापुरुषों में से एक स्वामी विवेकानंद की आज 12 जनवरी को 161वीं जयंती के रूप में मनाया जा रहा है। उनका जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता के एक मध्य परिवार में हुआ था l

राष्ट्रीय युवा दिवस का इतिहास

देश का भविष्य कहे जाने वाले युवाओं के लिए स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन को युवा दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत साल 1984 में की गई थी। उस समय की सरकार का ऐसा मानना था कि स्वामी विवेकानंद के विचार आदर्श और उनके काम करने का तरीका भारतीय युवाओं के लिए प्रेरणा का एक स्रोत हो सकता है ऐसे में इस बात को ध्यान में रखते हुए 12 जनवरी 1984 को स्वामी विवेकानंद की जयंती को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत हो गई थी।

युवा दिवस की थीम

इस साल युवा दिवस की थीम 'इंट्स ऑल इन द माइंड' है। इसका मतलब है कि सब कुछ आपके दिमाग में है, अगर आप जीवन में सफल होने के लिए कोई टारगेट बना लेते हैं और उसे पाने के लिए हरसंभव कोशिश करते हैं तो आपको कामयाब होने से कोई रोक नहीं सकता है।

स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार

* सत्य को हजार तरीकों से बताया जा सकता है फिर भी वह हर एक सत्य ही होगा

* बेरी स्वभाव केवल अंदरूनी स्वभाव का बड़ा रूप है

* जितना बड़ा संघर्ष होगा जीत उतनी शानदार होगी।

* खुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप होता है।

* कभी यह मत सोचिए की आत्मा के लिए कुछ भी करना संभव है। खुद को निर्बल बनाना ही सबसे बड़ा पाप है। याद रखिए की आत्मा के लिए इस दुनिया में कुछ भी सब कुछ पाना संभव है।

Related Stories

No stories found.