बंगाल में ED अधिकारियों पर जानलेवा हमला, TMC नेता शाहजहां शेख पर लोगों को उकसाने का आरोप, 3 FIR दर्ज

Bengal News: छापेमारी करने गए ईडी अधिकारियों पर संदेशखाली में हुए हमले के सिलसिले में शुक्रवार देर रात ईडी अधिकारियों ने शिकायत दी है।
Injured ED official
Injured ED officialwww.raftaar.in

कोलकाता, (हि.स.)। छापेमारी करने गए ED अधिकारियों पर संदेशखाली में हुए हमले के सिलसिले में शुक्रवार देर रात ED अधिकारियों ने शिकायत दी है। केंद्रीय एजेंसी की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि तृणमूल नेता शेख शाहजहां के उकसावे पर लोगों ने ED अधिकारियों को जान से मारने के इरादे से हमले किए। एजेंसी ने कहा है कि हमले के समय मोबाइल फोन लोकेशन के मुताबिक शाहजहां शेख घर के अंदर था और उसी के कहने पर करीब एक हजार लोग हमले के लिए बाहर आए।

रिपोर्ट शनिवार शाम तक ED के नयी दिल्ली कार्यालय को भेज दी जाएगी

शुक्रवार देर रात जारी आधिकारिक बयान में एजेंसी ने कहा कि उसकी तरफ से आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए स्थानीय पुलिस में शिकायत दी गई है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शनिवार को कहा कि ईडी के अधिकारी पश्चिम बंगाल में तृणमूल नेता के आवास पर छापे के दौरान भीड़ द्वारा उनके सहयोगियों पर किए गए हमलों पर रिपोर्ट के दो सेट तैयार कर रहे हैं। रिपोर्ट शनिवार शाम तक ईडी के नयी दिल्ली कार्यालय को भेज दी जाएगी और उनकी अगली कार्रवाई का फैसला वहां उनके वरिष्ठ अधिकारी करेंगे।

घायल अधिकारियों का अस्पताल में इलाज हो रहा है

ईडी की टीम पर शुक्रवार को उस वक्त हमला किया गया था, जब राशन वितरण घोटाले के सिलसिले में उत्तर 24 परगना स्थित संदेशखली में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता शेख शाहजहां के आवास पर तलाशी लेने गई थी। एजेंसी ने कहा, ‘ईडी अधिकारियों के कर्तव्य निर्वहन करने के दौरान उनपर भीड़ (संदेह है कि शेख और उनके सहयोगियों के उकसावे पर) ने हमला किया। जिसमें तीन अधिकारियों को गंभीर चोटें आईं, क्योंकि भीड़ जान लेने के मकसद से ईडी अधिकारियों की ओर बढ़ रही थी।’

ईडी ने बताया कि घायल अधिकारियों का अस्पताल में इलाज हो रहा है। अन्य अधिकारियों को अपनी जान बचाने के लिए तलाशी लिये बगैर मौके से भागना पड़ा, क्योंकि भीड़ ‘बहुत हिंसक’ हो गई थी और यहां तक कि उन्होंने अधिकारियों का पीछा भी किया।

लैपटॉप, फोन, पर्स छीना

ईडी की तरफ से बताया गया कि ‘भीड़ ने ईडी अधिकारियों के मोबाइल फोन, लैपटॉप, नकदी, बटुआ आदि जैसी निजी और सरकारी वस्तुएं भी छीन या लूट लीं। दोषियों के खिलाफ प्राथमिकी और आवश्यक कार्रवाई के लिए क्षेत्राधिकार रखने वाले पुलिस थाने में जरूरी शिकायत दी गई।’

तलाशी टीम जैसे ही शेख के आवास पर पहुंची, दरवाजा अंदर से बंद पाया गया और उन्होंने इसे खोलने से इनकार कर दिया। एजेंसी के अधिकारियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कर्मियों की मदद से दरवाजा खुलवाने की कोशिश की।

घर के अंदर था शाहजहां

उस वक्त उनके मोबाइल फोन के लोकेशन से यह संकेत मिला कि शाहजहां शेख घर के अंदर ही था। इसके बाद, आधे घंटे के अंदर करीब 800 से 1000 व्यक्तियों की भीड़ ने ईडी की टीम की ओर बढ़ना शुरू कर दिया। भीड़ में शामिल लोगों के हाथों में लाठी, पत्थर, ईंट आदि थी। उन्होंने ईडी अधिकारियों और सीआरपीएफ कर्मियों को घेर लिया। अचानक भीड़ ने ईडी अधिकारियों और सीआरपीएफ कर्मियों पर हमला करना शुरू कर दिया, उनपर पथराव किया तथा अधिकारियों और सीआरपीएफ के 27 कर्मियों पर लाठियों से हमला किया। भीड़ ने अधिकारियों और सुरक्षा कर्मियों के वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.