पश्चिम बंगाल राजभवन ने संदेशखाली पीड़िताओं के लिए खोले दरवाज़े; सुरक्षा, खाने-रहने की व्यवस्था का किया वादा

Bengal News: पश्चिम बंगाल का संदेशखाली में महिलाओं के साथ अत्याचार का मामला इतना बढ़ गया है कि राजभवन ने संदेशखाली की पीड़िताओं के लिए पीस होम नाम से 3 कमरे अलॉट कर दिए हैं।
Raj Bhavan, West Bengal
Raj Bhavan, West Bengalraftaar.in

बंगाल रफ्तार डेस्क। पश्चिम बंगाल का संदेशखाली में महिलाओं के साथ अत्याचार का मामला इतना बढ़ गया है कि राजभवन ने संदेशखाली की पीड़िताओं के लिए पीस होम नाम से 3 कमरे अलॉट कर दिए हैं। दरअसल संदेशखाली की महिलाओं ने TMC के नेताओं पर उनके साथ यौन शोषण का आरोप लगाया है। इस मामले को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग चिंतित है और एक्शन में है। राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम वहां पीड़ित महिलाओं का हाल जानने और मामले में बड़ी कार्यवाही करवाने के लिए पहुंची है

राज्यपाल अपने कर्तव्य का अच्छे से पालन कर रहे है और राखी का भी लाज रख रहे हैं

राज्यपाल सीवी आनंद बोस ने संदेशखाली जाकर पीड़ित महिलाओं की आपबीती जानी थी। पीड़ित महिलाओं ने राजयपाल को राखी भी बांधी थी। राज्यपाल अपने कर्तव्य का अच्छे से पालन कर रहे है और राखी का भी लाज रख रहे हैं। इसके लिए उन्होंने राजभवन में पीस होम के नाम से 3 कमरे अलॉट कर दिए हैं, जहां पीड़ित महिलाएं आकर रह सकती हैं। पीड़ित महिलाओं से राखी बंधवाने के बाद राजभवन में पीड़ित परिवारों के कई फोन आने लगे थे। जिसके बाद उनकी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए राजयपाल ने यह निर्णय लिया।

अगर आप लोगो को संदेशखाली में डर लग रहा है तो यहां आकर रह सकते हैं

राजभवन में पीड़ित महलाओं के लिए मुफ्त में रहने, खाने-पीने की व्यवस्था की गई है। पीड़ित महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला सुरक्षा कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। वहीं राजभवन ने संदेशखाली की सभी पीड़ित महिलाओं के लिए ऐलान किया है कि अगर आप लोगो को संदेशखाली में डर लग रहा है तो यहां आकर रह सकते हैं। राज्यपाल ने पीड़ित महिलाओं से सुरक्षा का वादा किया है और लगातार उनके साथ संपर्क में बने रहने की बात भी कही है। राज्यपाल का यह बहुत ही सराहनीय कार्य है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.