पाकिस्तान का खुफिया जासूस भारत में इस बड़ी साजिश को देना वाला था अंजाम, STF ने ऐन मौके पर पकड़ा

एक पुलिस अधिकारी ने झा की गिरफ्तारी के तुरंत बाद कहा, "पूछताछ के दौरान उसके मोबाइल फोन से तस्वीरें, वीडियोग्राफ और ऑनलाइन चैट जैसी गुप्त जानकारी प्राप्त की गई हैं।
पाकिस्तान का खुफिया जासूस भारत में इस बड़ी साजिश को देना वाला था अंजाम
पाकिस्तान का खुफिया जासूस भारत में इस बड़ी साजिश को देना वाला था अंजाम

कोलकाता, हि.स.। कोलकाता में गिरफ्तार किया गया पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने का आरोपित भक्त बंशी झा (36) कोलकाता से सटे मशहूर बाली ब्रिज को उड़ाने की योजना बना रहा था। पिछले हफ्ते उसे कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद से उससे लगातार पूछताछ हो रही है। इसी दौरान उसके मोबाइल से बाली ब्रिज की तस्वीर मिली है। उससे पूछताछ और उसके निजी मोबाइल फोन के डेटा के आधार पर जांच अधिकारियों को आरोपित की ओर से पाकिस्तान स्थित एक महिला को रेल-पुल और निकटवर्ती मंदिर की तस्वीरें भेजने के बारे में जानकारी मिली है।

आतंकवादी संगठन संचालकों के साथ आदान-प्रदान किए गए

जांच अधिकारियों ने झा द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के माध्यम से पाक स्थित आतंकवादी संगठन संचालकों के साथ आदान-प्रदान किए गए संदेशों के बारे में भी जानकारी मिली है, जो दर्शाता है कि आरोपित की जड़ें काफी गहरी हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि कथित तौर पर अपने देश की खुफिया एजेंसी के लिए काम करने वाली पाकिस्तानी महिला काफी समय से उसके संपर्क में थी।

खतरनाक गतिविधियों में सीधे शामिल होने के आरोप में किया था गिरफ्तार

हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि झा पाकिस्तान गया भी था या वह महिला भारत आई थी। पिछले हफ्ते सहयोगी एजेंसियों के इनपुट के आधार पर एसटीएफ अधिकारियों ने झा को देश की सुरक्षा के लिए खतरनाक गतिविधियों में सीधे शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया था। उसे शुक्रवार शाम मध्य कोलकाता के लाल बाजार में कोलकाता पुलिस मुख्यालय में एसटीएफ कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया था और लंबी पूछताछ सत्र के बाद 25 अगस्त की शाम को गिरफ्तार कर लिया गया था।

चैट जैसी गुप्त जानकारी प्राप्त की गई

एक पुलिस अधिकारी ने झा की गिरफ्तारी के तुरंत बाद कहा, "पूछताछ के दौरान उसके मोबाइल फोन से तस्वीरें, वीडियोग्राफ और ऑनलाइन चैट जैसी गुप्त जानकारी प्राप्त की गई हैं, जिसे आरोपित ने पाकिस्तान के एक संदिग्ध खुफिया ऑपरेटिव को साझा किया था।" पाकिस्तान की जिस खुफिया ऑपरेटिव से आरोपित अक्सर अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए चैट करता था, उसकी पहचान आरुषि शर्मा के रूप में हुई है। कोलकाता आने से पहले झा काफी समय तक दिल्ली में रहा था, जहां उसने महत्वपूर्ण रक्षा-प्रतिष्ठानों और छावनियों की तस्वीरें ली थीं।

Related Stories

No stories found.