Kolkata News: 'ममता चोर' वाली टी-शर्ट पहन, शुभेंदु ने ममता दीदी के खिलाफ किया प्रदर्शन; मामले में FIR हुई दर्ज

Kolkata: पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ BJP विधायक शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ एक और FIR दर्ज हुई है। इस बार CM ममता बनर्जी को चोर कहे जाने को लेकर उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।
BJP VS TMC
BJP VS TMCRaftaar.in

कोलकाता, हि.स.। पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ भाजपा विधायक शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ एक और प्राथमिकी दर्ज हुई है। इस बार मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चोर कहे जाने को लेकर उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। राज्य कैबिनेट के एक वरिष्ठ मंत्री ने अधिकारी और अन्य भाजपा विधायकों के खिलाफ कोलकाता के दो पुलिस स्टेशनों में दो अलग-अलग एफआईआर दर्ज कराई है, क्योंकि सोमवार को एक सार्वजनिक प्रदर्शन के दौरान वे ''ममता चोर'' लिखी हुई टी-शर्ट पहनेे हुए थे।

राज्य की वित्तमंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने दर्ज कराई FIR

राज्य की वित्तमंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने कोलकाता के मैदान और हेयर स्ट्रीट पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई हैं। चंद्रिमा ने अपनी शिकायत में दावा किया कि ऐसा कृत्य मुख्यमंत्री का घोर अपमान है, जो राज्य की कार्यकारी प्रमुख हैं। भाजपा विधायक दल के सदस्य पूरे शीतकालीन सत्र के लिए विपक्ष के नेता को निलंबित करने के अध्यक्ष बिमान बनर्जी के फैसले के खिलाफ विधानसभा परिसर के पास रेड रोड पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।

अध्यक्ष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी

शुभेंदु अधिकारी को अध्यक्ष के खिलाफ 'आपत्तिजनक टिप्पणी' करने के लिए 28 नवंबर को निलंबित कर दिया गया था। अधिकारी विरोध प्रदर्शन में बीजेपी विधायकों का नेतृत्व कर रहे थे, जहां सभी प्रदर्शनकारी पार्टी विधायकों ने 'ममता चोर' लिखी टी-शर्ट पहन रखी थी।

इस मामलें में भी FIR हुई थी दर्ज

पश्चिम बंगाल में BJP के 11 विधायकों पर राष्ट्रगान का अपमान करने और शांति भंग करने के लिए उकसाने' का आरोप लगाया गया था। इसके बाद 30 नवंबर को उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई। इस प्रकरण से BJP और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के बीच जुबानी हमले तेज हो गए थे। TMC नेता कुनाल घोष ने BJP विधायक और विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी को 'चोर और भ्रष्टाचारी' तक कह दिया था। वहीं BJP विधायक शंकर घोष ने बंगाल सरकार पर विपक्ष की आवाज दबाने का आरोप लगाया था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

रफ़्तार के WhatsApp Channel को सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें Raftaar WhatsApp

Telegram Channel को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें Raftaar Telegram

Related Stories

No stories found.