बंगाल विधानसभा में BJP-TMC विधायकों के बीच नारेबाजी से हालात तनावपूर्ण, शिकायत करने राजभवन गए विपक्षी विधायक

Bengal News: राज्य के अंतरिम बजट और संदेशखाली की स्थिति को लेकर राज्य विधानसभा में शनिवार को जमकर हंगामा हुआ।
Shubhendu Adhikari and Mamta Banerjee
Shubhendu Adhikari and Mamta Banerjeeraftaar.in

कोलकाता, (हि.स.)। राज्य के अंतरिम बजट और संदेशखाली की स्थिति को लेकर राज्य विधानसभा में शनिवार को जमकर हंगामा हुआ। भाजपा और सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल के विधायकों के बीच चोर-चोर की नारेबाजी के बीच ऐसे हालात बन गए थे कि अध्यक्ष विमान बनर्जी को कड़ी भाषा में चेतावनी देनी पड़ी। हालांकि हालात को संभाल लिया गया। इसके खिलाफ नारेबाजी करते हुए भाजपा विधायकों ने वाक आउट किया और शिकायत करने रैली निकालकर राजभवन पहुंचे। उन्होंने विधानसभा से लेकर राजभवन तक मार्च किया। भाजपा ने संदेशखाली की स्थिति पर राज्यपाल कार्यालय में एक ज्ञापन सौंपा है।

तृणमूल विधायक रामेंदु सिंह रॉय ने शुभेंदु को ''चोर'' कहकर हमला बोला था

वित्त राज्य मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने गुरुवार को विधानसभा में राज्य का अंतरिम बजट पेश किया था। शनिवार को विधानसभा में उस बजट पर चर्चा के दौरान तारकेश्वर के तृणमूल विधायक रामेंदु सिंह रॉय ने शुभेंदु को ''चोर'' कहकर हमला बोला था। शुभेंदु ने भी उस हमले का जवाब दिया इसके बाद दोनों और के विधायक नारेबाजी में उलझ गए। विधानसभा में माहौल तनावपूर्ण हो गया था जिसके बाद स्पीकर बिमान बनर्जी ने दोनों विधायकों को चेतावनी दी। उन्होंने सभा की गरिमा बनाये रखने का अनुरोध किया।

भाजपा की ओर से नारे लगाए गए, ''अबकी बार 400 पार''

शनिवार को शुभेंदु ने विधानसभा में राज्य के बजट की कई खामियों को उजागर किया। इसके साथ ही पार्टी की ओर से वित्त राज्य मंत्री को मांगों से अवगत कराया गया। उन्होंने दावा किया कि राज्य के सरकारी कर्मचारियों को केंद्रीय दर पर डीए का भुगतान किया जाना चाहिए। असम की तरह, बंगाल सरकार महिलाओं को 2,500 रुपये दे। उन्होंने राजस्थान की तरह 450 रुपये में गैस देने की भी बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को उत्तर प्रदेश की तरह आम लोगों को भी एक सिलेंडर मुफ्त देने की घोषणा करनी चाहिए। शुभेंदु के भाषण के अंत में भाजपा की ओर से नारे लगाए गए, ''अबकी बार 400 पार''

भाजपा विधायक वॉकआउट कर गए और सदन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया

तृणमूल विधायक पार्थ भौमिक ने इन प्रस्तावों को प्रधानमंत्री कार्यालय को सौंपने का सुझाव दिया। इसके बाद मंत्री अरूप विश्वास ने सदन में अपनी बात रखी। इस बीच नारेबाजी करते हुए भाजपा विधायक वॉकआउट कर गए और सदन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.