Sandeshkhali: संदेशखाली मामले में गृह मंत्रालय को राज्यपाल ने सौंपी रिपोर्ट, नड्डा ने जांच के लिए बनाई नई टीम

Kolkata: पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डॉ. सीवी आनंद बोस ने संदेशखाली में यौन उत्पीड़न मामले में गृह मंत्रालय को रिपोर्ट सौंपी हैं। जे.पी.नड्डा ने सांसदों की 6 सदस्यीय समिति की को आज संदेशखाली भेजा है।
Sandeshkhali Violence
Sandeshkhali Violence Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डॉ. सीवी आनंद बोस ने संदेशखाली पर एक रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रालय को सौंप दी है। रिपोर्ट में पुलिस पर उपद्रवी तत्वों से मिले होने का आरोप लगाया गया है। नई दिल्ली में राज्यपाल ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की। राजभवन के एक अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी है। इस मामले में TMC के नेता शेख शाहजहां पर गंभीर आरोप लगे हैं।

राज्यपाल की रिपोर्ट में क्या है शामिल?

संदेशखाली में महिलाएं सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस नेता शाहजहां शेख और उनके समर्थकों के कथित अत्याचारों के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं। बोस ने रिपोर्ट में कहा है, 'संदेशखाली के लोग विशेष कार्य बल या विशेष जांच दल के गठन की मांग कर रहे हैं। मेरी राय में वहां स्थिति बेहद निंदनीय है।' राज्यपाल ने रिपोर्ट में कहा है कि पुलिस शिकायत दर्ज करने के बजाय स्थानीय लोगों को उपद्रवी तत्वों के साथ समझौता करने की सलाह दे रही है।

'अपराधी कौन और रक्षक कौन'

सूत्रों ने कहा कि पुरुषों के दूर रहने पर महिलाओं पर अत्याचार और यौन उत्पीड़न के अलावा, राज्यपाल द्वारा सुने गए अन्य आरोपों में झींगा मछली पालन के लिए जमीन हड़पना और पीड़ितों द्वारा पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायतों को वापस लेने के लिए ग्रामीणों को मजबूर करना शामिल है। “पीड़ितों के साथ बातचीत से यह स्पष्ट है कि इलाके के सक्षम अधिकारी उत्पीड़ित और प्रभावित ग्रामीणों के बीच विश्वास पैदा करने में विफल रहे हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसी अनिश्चित स्थिति जहां लोग इस भ्रम में हैं कि 'अपराधी कौन हैं और रक्षक कौन हैं' एक लोकतांत्रिक समाज के लिए अच्छी बात नहीं है।' सूत्रों के मुताबिक, रिपोर्ट में शाजहान शेख के करीबियों के नाम शामिल है, जो कथित तौर पर संदेशखाली के लोगों पर अत्याचार कर रहे हैं।

शाहजहां शेख की तलाश में जुटी ED

राज्यपाल डॉ. सीवी आनंद बोस की रिपोर्ट के अनुसार, "असामाजिक तत्वों द्वारा बड़ी संख्या में महिलाओं की विनम्रता, गरिमा और सम्मान पर भयानक, चौंकाने वाला और चकनाचूर करने वाला हमला लोकतांत्रिक के लिए खतरा है।", संदेशखाली तब सुर्खियों में आया जब प्रवर्तन निदेशालय (ED) के अधिकारियों पर शेख शाजहान के करीबियों ने हमला किया था। जब वे 5 जनवरी को TMC नेता शेख शाहजहां के परिसर की तलाशी के लिए गए थे। शाहजहां शेख तब से फरार हैं। भ्रष्टाचार के मामले में ED शाहजहां शेख की तलाश में जुटी है।

बिना किसी डर या पक्षपात के कार्रवाई की मांग

राज्यपाल ने रिपोर्ट में यह भी कहा कि पुलिस उपद्रवियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के बजाय स्थानीय लोगों को उनके साथ समझौता करने का निर्देश देती है। जबकि “पुलिसकर्मियों के भेष में गुंडा तत्व रात में पीड़ितों के घरों में घुस जाते हैं।” उन्होंने कहा कि ग्रामीणों का मानना ​​है कि यह जरूरी है कि पुलिस अधिकारियों द्वारा बिना किसी डर या पक्षपात के कार्रवाई की जाए। ग्रामीणों के अनुसार, इस अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी, पीड़ितों को अनुग्रह सहायता प्रदान करना और सभी दोषी पुलिस अधिकारियों का ट्रांसफर करना शामिल है।

BJP के प्रदेश अध्यक्ष संदेशखली में हुए घायल

BJP प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार BJP कार्यकर्ताओं के साथ बुधवार को हिंसा प्रभावित संदेशखाली में रेप विक्टिम्स से मिलने जा रहे थे। लेकिन बाशीरहाट में स्थानीय पुलिस ने उन्हें रोक दिया। उन्हें करीब 30 किलोमीटर दूर स्थित एक गेस्ट हाउस में ठहराया गया। गुरुवार को सुकांत मजूमदार हिंसा प्रभावित संदेशखाली जाने के लिए रवाना हुए लेकिन पुलिस ने उन्हें संदेशखाली जाने से फिर रोक दिया। इसी बीच सुकांत के समर्थकों और पुलिस के बीच गहमागहमी हो गई और पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इस दौरान सुकांत एक गाड़ी में खड़े हो कर मीडिया से बात कर रहे थे। तभी उनका पैर फिसल गया और वो गिर पड़े। जिसके बाद वो गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें कोलकाता के एक निजी अस्पताल के ICU में भर्ती करवाया गया है। अस्पताल में शुभेंदू अधिकारी भी सुकांत मजूमदार से मिलने आए।

जे.पी.नड्डा ने पार्टी सांसदों की 6 सदस्यीय समिति की गठित

BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा ने पार्टी सांसदों की 6 सदस्यीय समिति गठित की है। जिनमें से 5 महिलाएं हैं। यह समिती आज पश्चिम बंगाल के संदेशखाली का दौरा करेंगी। जहां TMC समर्थकों द्वारा महिलाओं की यौन उत्पीड़न के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है। केंद्रीय मंत्री स्मिृति ईरानी ने भी इस मामले में प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने ममता सरकार पर हमला किया था।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.