West Bengal: भाजपा ने कहा बंगाल में टुकड़े-टुकड़े गैंग के लिए ममता ने बनाया सेफ माहौल

West Bengal: संसद की सुरक्षा में सेंध लगाने के आरोपितों के मास्टरमाइंड और उसके सहयोगियों के कोलकाता से संबंधित होने को लेकर भाजपा सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर हमलावर हो गई है।
Shubhendu Adhikari and Mamata Banerjee
Shubhendu Adhikari and Mamata Banerjeeraftaar.in

कोलकाता, (हि.स.)। संसद की सुरक्षा में सेंध लगाने के आरोपितों के मास्टरमाइंड और उसके सहयोगियों के कोलकाता से संबंधित होने को लेकर भाजपा सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर हमलावर हो गई है। ममता कैबिनेट में मंत्री तापस रॉय के साथ ललित झा की कई तस्वीरें सामने आने के बाद भाजपा लगातार निशाना साध रही है।

बंगाल में शहरी नक्सलियों और टुकड़े-टुकड़े गैंग के लिए सेफ माहौल बनाया

नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ भाजपा विधायक शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि ममता बनर्जी ने बंगाल में शहरी नक्सलियों और टुकड़े-टुकड़े गैंग के लिए सेफ माहौल बनाया है। शुक्रवार को उन्होंने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर लिखा, ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में सफलतापूर्वक एक इको सिस्टम बनाया है जो शहरी नक्सलियों का पोषण करता है, टुकड़े-टुकड़े गैंग को प्रोत्साहित करता है, अवैध अप्रवासियों और घुसपैठियों को सुरक्षित मार्ग प्रदान करता है और दस्तावेज़ बनाने में मदद करके उनके रहने की सुविधा प्रदान करता है। दुर्भाग्य से राज्य राष्ट्र-विरोधी गतिविधियों का केंद्र और राष्ट्र-विरोधी हितों को आश्रय देने वालों के लिए सेफ प्लेस और कुनबा बढ़ाने का स्थल बन गया है।"

ममता बनर्जी अपने नेता तापस रॉय के साथ ललित झा के संबंधों पर चुप नहीं रह सकती

दूसरी ओर भाजपा आईटी सेल के प्रमुख और उत्तर बंगाल के प्रभारी अमित मालवीय ने कहा, "ममता बनर्जी अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेता तापस रॉय के साथ ललित झा के संबंधों पर चुप नहीं रह सकती। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि संसद की सुरक्षा में सेंध लगाने वालों के साथ अपनी पार्टी के संबंध उजागर होने से डरे तृणमूल सांसद हंगामा कर रहे थे। तृणमूल के निचले स्तर के हिसाब से भी यह एक नया निचला स्तर है। संसद भवन में हुई बड़ी चूक के कारण बीजेपी ममता बनर्जी पर हमलावर हो चुकी है। इस घटना के बाद हर राज्य भी अपने स्तर पर विधानसभा की सुरक्षा को लेकर अलर्ट हैं और सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.