Bengal News: संदेशखाली में आज भाजपा, माकपा प्रतिनिधिमंडल के अलावा राज्यपाल का दौरा, सुरक्षा चाक चौबंद

Bengal News: उत्तर 24 परगना के संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस नेता शेख शाहजहां और उसके सहयोगियों के खिलाफ स्थानीय लोगों के विरोध प्रदर्शन, हिंसा और आगजनी के बाद हालात सामान्य नहीं हो रहे हैं।
Shubhendu Adhikari
Shubhendu Adhikariraftaar.in

कोलकाता, (हि.स.)। उत्तर 24 परगना के संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस नेता शेख शाहजहां और उसके सहयोगियों के खिलाफ स्थानीय लोगों के विरोध प्रदर्शन, हिंसा और आगजनी के बाद हालात सामान्य नहीं हो रहे हैं। गत शुक्रवार रात लगाई गई धारा 144 आज सोमवार को भी लागू रहेगी। जिलाधिकारी ने बताया है कि फिलहाल कानून व्यवस्था की स्थिति जब तक पूरी तरह से सामान्य नहीं हो जाती तब तक धारा 144 लागू रहेगी।

नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने आज हर हाल में संदेशखाली जाने की चेतावनी दी है

इसके अलावा सोमवार सुबह से ही पूरे क्षेत्र में अतिरिक्त संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई है। इसकी वजह है कि वरिष्ठ भाजपा विधायक और नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने आज हर हाल में संदेशखाली जाने की चेतावनी दी है। शनिवार को ही उन्होंने कहा था कि अगर रविवार तक हालात सामान्य नहीं हुए तो सोमवार को वह हर हाल में संदेशखाली जायेंगे। प्रदेश भाजपा के एक नेता ने बताया कि शुभेंदु अधिकारी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली जाएगा। अगर पुलिस वहां नहीं जाने देती है तो सड़क पर बैठकर विरोध प्रदर्शन होंगे।

राज्यपाल डॉक्टर सी वी आनंद भी क्षेत्र में हालात का जायजा लेने के लिए जाने वाले हैं

दूसरी ओर इलाके में अपने नेताओं की गिरफ्तारी के खिलाफ माकपा ने पूरे क्षेत्र में बंद का आह्वान किया है। बड़ी संख्या में माकपा के कार्यकर्ता भी सडंकों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने वाले हैं। इसके अलावा राज्यपाल डॉक्टर सी वी आनंद बोस भी क्षेत्र में हालात का जायजा लेने के लिए जाने वाले हैं। राज्य के संवैधानिक प्रमुख होने के नाते राज्यपाल का दौरा तो नहीं रोका जाएगा लेकिन इसे लेकर भी इलाके में तनाव पसर सकता है क्योंकि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता भी पुलिस की तैनाती और धारा 144 के बावजूद लगातार सड़कों पर उतरकर गांव वालों पर हमले करते रहे हैं।

स्थिति और अधिक बिगड़ती है तो केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की भी तैनाती हो सकती है

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखली में हिंसा और विरोध प्रदर्शनों की मौजूदा स्थिति और अधिक बिगड़ती है तो केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की भी तैनाती हो सकती है। राज्य प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि रविवार को ही केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों के अधिकारियों के साथ इस बारे में चर्चा हुई है। खास तौर पर सोमवार को राज्यपाल डॉ सी वी आनंद बोस के संदेशखाली दौरे को केंद्र कर राज्य सरकार ने हर कीमत पर क्षेत्र में हिंसा की स्थिति को काबू करने का मन बनाया है।

अन्य दोनों तृणमूल नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है

लोकसभा चुनाव से पहले अपने ही पार्टी के नेताओं के खिलाफ स्थानीय लोगों की सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने, आगजनी तोड़फोड़ और अपने ही नेताओं की गिरफ्तारी की वजह से तृणमूल कांग्रेस बैक फुट पर है। गत बुधवार से सड़कों पर उतरी महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन और हंगामा शुरू किया था। पहले स्थानीय तृणमूल नेता शेख शाहजहां, उसके सहयोगी शिबू हाजरा और उत्तम सरदार को गिरफ्तार करने की मांग की गई। शाहजहां पर ईडी अधिकारियों पर हमले के लिए लोगों को भड़काने का आरोप है जो फिलहाल फरार है। अन्य दोनों तृणमूल नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

माकपा के पूर्व विधायक को भी गिरफ्तार किया गया है

स्थानीय महिलाओं का आरोप है कि इलाके में इन लोगों ने गुंडाराज कायम कर रखा था और महिलाओं से छेड़खानी बच्चियों से असभ्य आचरण, लोगों से मारपीट और जबरदस्ती जमीन कब्जा करने का काम करते रहे हैं। इसके बाद माकपा के पूर्व विधायक को भी गिरफ्तार किया गया है, जिसके बाद वामपंथी कार्यकर्ताओं ने भी बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए हैं। इसलिए हालात काबू के बाहर हो रहे हैं। गत शुक्रवार से ही लगी धारा 144 के बावजूद लोगों का सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन नहीं थम रहा। खास तौर पर महिलाओं का। इसलिए अगर 24 घंटे के अंदर हालात सामान्य नहीं होते हैं तो बहुत हद तक संभव है कि इलाके में केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की जाए।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.