कांग्रेस के दिग्गज नेता अधीर रंजन होंगे BJP में शामिल! जानें 10 वर्षों में किन बड़े नेताओं ने छोड़ा हाथ का साथ

Bengal News: लोकसभा चुनाव में भाजपा को मात देने के उद्देश्य से बने INDIA गठबंधन की कम होती पकड़ से हर कोई वाकिफ है। आये दिन इस गठबंधन से जुड़ी दरारों की खबर मीडिया में आती रहती है।
Adhir Ranjan Chaudhary
Adhir Ranjan Chaudharyraftaar.in

कोलकाता, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव में भाजपा को मात देने के उद्देश्य से बने INDIA गठबंधन की कम होती पकड़ से हर कोई वाकिफ है। आये दिन इस गठबंधन से जुड़ी दरारों की खबर मीडिया में आती रहती है। इन्हीं दरारों को भरने के लिए कांग्रेस ने नेता INDIA गठबंधन के नेताओं से बातचीत करने में लगे हुए हैं।

दोनों पार्टी के मिलकर चुनाव लड़ने की संभावना है

लोकसभा चुनाव 2024 के मध्य नजर पश्चिम बंगाल में सीट शेयरिंग को लेकर TMC और कांग्रेस के बीच फिर से बातचीत शुरू हो गई है। दोनों पार्टी के मिलकर चुनाव लड़ने की संभावना है। इसी को लेकर पश्चिम बंगाल के कांग्रेस के बड़े चेहरे अधीर रंजन चौधरी की नाराजगी सामने आयी है। वह पश्चिम बंगाल के कांग्रेस अध्यक्ष व लोकसभा में विपक्ष के नेता हैं। उनकी नाराजगी कांग्रेस की ममता बनर्जी के साथ सीट सीट बंटवारे को लेकर चल रही बातचीत की वजह से है।

ऐसे में कांग्रेस का ममता बनर्जी के साथ गठबंधन बनना मुश्किल सा लग रहा है

सूत्रों के अनुसार, पश्चिम बंगाल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने ममता बनर्जी के साथ चल रही सीट शेयरिंग की बातचीत को लेकर पार्टी छोड़ने की धमकी दे डाली है। उन्होंने कांग्रेस आलाकमान को साफ कर दिया कि अगर पार्टी TMC के साथ गठबंधन करती है तो वह भाजपा में शामिल हो सकते हैं। उनके इतने बड़े ऐलान से पार्टी आलाकमान में चिंता बनी हुई है। अधीर रंजन हमेशा से TMC और ममता बनर्जी के आलोचक रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस का ममता बनर्जी के साथ गठबंधन बनना मुश्किल सा लग रहा है। वहीं ममता बनर्जी ने भी पहले बंगाल में खुद से अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया था।

कांग्रेस में बड़े नेताओ के बीच नाराजगी की यह कोई नई बात नहीं है

कांग्रेस में बड़े नेताओ के बीच नाराजगी की यह कोई नई बात नहीं है। इससे पहले भी कांग्रेस के दिग्गज नेता पार्टी के निर्णयों से नाराज होकर पार्टी को छोड़ चुके हैं। जिसमे ज्योतिरादित्य सिंधिया, गुलाम नबी आजाद, रीता बहुगुणा जोशी, कैप्टन अमरिंदर सिंह, आरपीएन सिंह, जितिन प्रसाद, बाबा सिद्दीकी, मिलिंद देवड़ा, अशोक चव्हाण, सुष्मिता देव, प्रियंका चतुर्वेदी, अशोक तंवर, हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर, अशोक चौधरी, हिमंत बिश्व शर्मा, सुनील जाखड़, अश्वनी कुमार शामिल हैं। कांग्रेस को अपने दिग्गज नेताओं के विचारों को भी सम्मान देना चाहिए। नहीं तो पार्टी अपने निर्णयों के कारण अपने दिग्गजों को खोती रहेगी।

अब दोनों दलों के बीच 36-6 के फॉर्मूले में बात बन गयी है

सूत्रों के अनुसार TMC और Congress के बीच सीट बटवारे को लेकर बातचीत जारी है। जहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कांग्रेस को 5 सीट देने को तैयार बैठी है , वहीं कांग्रेस TMC से 6-8 सीटों की मांग कर रही है। दोनों पार्टियों के बीच बातचीत का अंतिम दौर चल रहा है। दोनों दलों के बीच 6 सीटों में सहमति की बात चल रही है। सूत्रों के अनुसार congress 6 सीटों में मान गयी है और अब दोनों दलों के बीच 36-6 के फॉर्मूले में बात बन गयी है, जिसके अनुसार कांग्रेस 6 सीटों में और TMC 36 सीटों में चुनाव लड़ेगी। अगर ऐसा होता है तो कांग्रेस पश्चिम बंगाल से अपना बड़ा नेता खो सकती है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.