Uttarakhand: अंगीठी की गैस में दम घुटने से यूपी के 3 युवकों की मौत, दो दिन से कमरे में पड़े थे बंद

Uttarakhand News: अंगीठी की गैस से दम घुटने से उत्तर प्रदेश के तीन युवकों की मौत हो गयी। इसका खुलासा सोमवार देर रात्रि हुआ।
Uttarakhand: अंगीठी की गैस में दम घुटने से यूपी के 3 युवकों की मौत, दो दिन से कमरे में पड़े थे बंद
raftaar.in

नैनीताल, (हि.स.)। अंगीठी की गैस से दम घुटने से उत्तर प्रदेश के तीन युवकों की मौत हो गयी। इसका खुलासा सोमवार देर रात्रि हुआ। ये तीनों युवक उत्तराखंड उच्च न्यायालय परिसर में चल रहे किसी निर्माण कार्य में मजदूर लगे हुए थे।

तीनों युवकों की मौतों का कारण अंगीठी की गैस से दम घुटना बताया जा रहा है

बीती रात्रि करीब एक बजे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय में 3 युवकों को लाया गया। इनमें से 2 युवकों को चिकित्सक ने जांच के उपरांत मृत घोषित कर दिया, जबकि उनके एक अन्य साथी की स्थिति भी नाजुक बनी हुई थी। उसे डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय हल्द्वानी के लिये रेफर किया गया। वहां उसने भी दम तोड़ दिया है। तीनों युवकों की मौतों का कारण अंगीठी की गैस से दम घुटना बताया जा रहा है।

ठेकेदार सोमवार देर रात्रि उनके कक्ष में गया तो तीनों बेहोश पड़े थे

उत्तराखंड उच्च न्यायालय परिसर में चल रहे किसी निर्माण कार्य में यूपी के मजदूरी पर लगे हुए थे। इन तीनों युवकों से उनके परिजनों का दो दिन से संपर्क नहीं हो पा रहा था। इस पर उन्होंने उनके ठेकेदार से संपर्क किया। ठेकेदार सोमवार देर रात्रि उनके कक्ष में गया तो तीनों बेहोश पड़े थे। तीनों को रात्रि करीब एक बजे बीडी पांडे जिला चिकित्सालय लाया गया, जहां ईएमओ यानी आपातकालीन चिकित्सा अधिकारी डॉ. हाशिम अंसारी ने दो युवकों 21 वर्षीय राजकुमार व 24 वर्षीय अवनीश को मृत घोषित कर दिया। दोनों बदायूं, उत्तर प्रदेश के निवासी बताये गये हैं जबकि तीसरे गंभीर स्थिति में मिले युवक की पहचान उसके आधार कार्ड से 21 वर्षीय मोहिंदर देव निवासी शाहजहांपुर उत्तर प्रदेश के रूप में हुई।

तीसरे युवक मोहिंदर ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया

डॉ. अंसारी ने बताया कि मोहिंदर की हालत भी नाजुक थी। उसे प्राथमिक उपचार के बाद एसटीएच यानी डॉ. सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी रेफर कर दिया गया जबकि अन्य दो युवकों के शव मोर्चरी में रखवा दिये गये हैं। इधर मंगलवार को एसटीएच हल्द्वानी के पीआरओ आलोक उप्रेती ने बताया कि तीसरे युवक मोहिंदर ने भी उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।

कमरे में अंगीठी की गैस से दम घुटने के बाद वह वहीं पड़े हुए थे

बताया जा रहा है बीती 28 जनवरी से तीनों युवकों से उनके परिजनों सहित किसी का संपर्क नहीं हुआ था। माना जा रहा है कि वह 28 की रात्रि कमरे में अंगीठी जलाकर सोये थे। 29 के पूरे दिन व मध्य रात्रि तक कमरे में अंगीठी की गैस से दम घुटने के बाद वह वहीं पड़े हुए थे।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.