काशी से केशव मौर्य ने यूपी INC प्रदेश अध्यक्ष पर बोला हमला, कह दिया 'नया मुल्ला’ तो अजय राय ने बताया ‘चलनी’

UP Politics: केशव प्रसाद मौर्य ने काशी यात्रा के दौरान कहा 'कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अभी नए ’मुल्ला’ की तरह हैं, प्याज ज्यादा खा रहे हैं। अजय राय ने कहा ‘सूप तो सूप, चलनियां और ज्यादा बोलती हैं...
काशी से केशव मौर्य ने यूपी INC प्रदेश अध्यक्ष पर बोला हमला, कह दिया 'नया मुल्ला’ तो अजय राय ने बताया ‘चलनी’

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव 2024 से पहले उत्तर प्रदेश की राजनीतिक सरगर्मियां बढने लगी है। बयानो और आरोपो को नयो क्रम शुरू हो गया है। कोई सनातन धर्म को खत्म कर रहा तो कोई अपने आप को सनातन का रक्षक बता रहा है। एक तरफ सनातन धर्म को लेकर सत्ता व विपक्ष की बयानबाजी ने अब व्यक्तिगत आरोपो तक का रूख कर लिया है। भोले नाथ की धरती काशी में इसका नया रूप देखने को मिल रहा है। केशव प्रसाद मौर्य ने अपनी काशी यात्रा के दौरान कहा 'कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अभी नए ’मुल्ला’ की तरह हैं, प्याज ज्यादा खा रहे हैं।'

नया मुल्ला प्याज ज्यादा खाता है- केशव

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य इस समय काशी का दौरा कर रहें है। इस दौरान केशव प्रसाद मौर्य काशी में दौरे के दूसरे दिन सर्किट हाउस में तीसरी बार मोदी सरकार बनने के दावा करने के साथ ही एक सवाल के जवाब में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय राय पर भी बड़ा बयान दे दिया। उन्होंने कहा कि नया मुल्ला प्याज ज्यादा खाता है। प्रदेश में कांग्रेस का कोई भला नहीं होने वाला है। कांग्रेस अध्यक्ष की पहले क्या छवि रही है, यह बात सभी जानते भी हैं। इसी के साथ ही उन्होंने नए बने गठबंधन (I.N.D.I.A) पर तीखा हमला बोला। कहा कि चुनाव के पहले यह गठबंधन देश के माहौल को खराब करने पर तुला हुआ है। बार-बार इस गठबंधन के नेता सनातन धर्म पर गलत बयानबाजी कर रहे हैं।

‘सूप तो सूप, चलनियां और ज्यादा बोलती हैं...

इस पूरे मामले पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय राय ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होने कहा हम दोनों की पैदाइश एक ही वर्ष 1969 की है। पांच बार विधायक रहा व प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में आज भी सत्ता के शीर्ष दुर्गों से टकरा रहा हूं। मैं लोकतांत्रिक संघर्ष की इसी राजनीतिक पहचान पर जीता हूं। उप मुख्यमंत्री की बचकानी टिप्पणी उनके राजनीतिक संस्कार का स्तर दर्शाती है। भाजपा की आज खासियत यही है कि वहां ‘सूप तो सूप, चलनियां और ज्यादा बोलती हैं...।’ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष यहीं नहीं रुके। कहा कि भाग्य ने बिना पात्रता के उन्हें पद पर आसीन कर दिया है। कम से कम मुंह खोलने के समय मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए।

उपमुख्यमंत्री अपने काम पर ध्यान दें

इसके साथ अजय राय ने कहा कि हमसे बड़ा धार्मिक कोई नहीं है। जब साधु संतों पर लाठियां चली थीं, उस वक्त हम लोगों ने प्रतिरोध किया था। इस पर हम लोगों पर कार्रवाई भी हुई थी। सनातनी हैं, बाबा विश्वनाथ के भक्त हैं। मैं प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्या से कहना चाहूंगा कि आप जिस तरह की भाषा का उपयोग कर रहे हैं, वह आपके पद को शोभा नहीं देता। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि उनके जनपद में तीन हत्यायें हुई हैं, उपमुख्यमंत्री उस पर ध्यान दें।

नेताओं मर्यादा बनाकर रखनी चाहिए

राजनीतिक विश्वलेषक और वरिष्ठ पत्रकार के. विक्रम राव ने दोनों नेताओं के बयानबाजी पर कहा कि दोनों नेताओं को मर्यादा बनाकर रखनी चाहिए। अजय राय तो सरकार में नहीं हैं लेकिन केशव प्रसाद मौर्य सरकार में है। इन्हें ज्यादा बड़प्पन दिखाना होगा।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें :www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.