varanasi-special-sanitation-campaign-in-rural-areas-on-completion-of-seven-years-of-modi-government
varanasi-special-sanitation-campaign-in-rural-areas-on-completion-of-seven-years-of-modi-government

वाराणसी: मोदी सरकार के सात वर्ष पूर्ण होने पर ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष स्वच्छता अभियान

- काशी कोविड सेवा समूह की वर्चुअल बैठक में निर्णय, महापुरुषों की प्रतिमा स्थल पर खास अभियान वाराणसी, 28 मई (हि.स.)। केन्द्र सरकार के सात साल पूरा होने पर कोविड काल में भी भाजपा कार्यकर्ता उत्साहित है। कार्यकाल के सातवें वर्षगाठ पर जिले के ग्रामीण अंचल में कार्यकर्ता विशेष स्वच्छता अभियान चलायेंगे। अभियान में गोशालाओं की साफ-सफाई के बाद चिकित्सा शिविर भी लगाया जायेगा। प्रदेश सरकार की आर्थिक रूप से कमजोर गरीब व छोटे व्यापारियों को भरण पोषण भत्ता देने की योजना का लाभ पहुंचाने के लिए जिले के सभी ब्लाकों पर शिविर लगेगा। शुक्रवार को काशी कोविड सेवा समूह की हुई वर्चुअल बैठक में इसके लिए रणनीति तैयार की गई। तय हुआ कि 30 मई को जिले के पंचायत, राजस्व गांवों में पीएचसी, सीएचसी सहित प्रमुख बाजारों, चौराहों पर स्थित महापुरुषों की प्रतिमा स्थल पर वृहद स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा। बैठक में प्रदेश के राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ नीलकंठ तिवारी ने कहा कि काशी के सांसद व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता अभियान की शुरुआत काशी से की थी। यह प्रधानमंत्री मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इस बात को ध्यान में रखते हुए 30 मई को केंद्र सरकार की सातवीं वर्षगांठ के अवसर पर एक बड़ा स्वच्छता अभियान जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में चलाया जाय इस स्वच्छता अभियान के तहत गोवंश आश्रय स्थल की भी व्यापक स्तर पर सफाई कराई जाए साथ ही गौशाला में गौ-माताओं का मेडिकल चेकअप कराया जाए। मंत्री ने इसके लिए समूह से जुड़े जन प्रतिनिधियों के साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों सीडीओ, डीपीआरओ, जिले के सभी आठों ब्लाकों के बीडीओ को दिशा निर्देश दिया। राज्यमंत्री डॉ तिवारी ने अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि 30 मई को जिले के सभी आठों ब्लाकों पर कैम्प लगाए जाएं और प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना काल मे आर्थिक तंगी से जूझ रहे गरीब, मजदूर, नाई, धोबी, हलवाई, नाविक, रेहड़ी, पटरी व्यवसायियों आदि के भरण पोषण भत्ते के रूप में दी जाने वाली आर्थिक सहायता के बड़े पैमाने पर फॉर्मेट (फार्म) भरवाए जाए। साथ ही वहां पात्रों के मेडिकल चेकअप की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। बैठक के प्रारंभ में एमएलसी लक्ष्मण आचार्य ने सीडीओ का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि इस महामारी के दौर में जब विधायक निधि से किसी मरीज को धनराशि दी जाती है। तो उसे प्राथमिकता के आधार पर अवमुक्त की जाए। आचार्य ने रामनगर में किले से चौक तक गंदगी का मामला उठाते हुए कहा कि गंदगी की वजह से पर्यटकों को आवागमन में भारी असुविधा झेलनी पड़ती है। एमएलसी अशोक धवन ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के जहां बीमार वही उपचार के मूल मंत्र को ध्यान में रखकर हमे मेडिकल किट व्यापक पैमाने पर गांव गांव में वितरित करनी चाहिए। विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने रामनगर पालिका परिषद के सफाई कर्मियों की सूची उपलब्ध करवाने, छुट्टा पशुओं के खुले आम भ्रमण पर रोक लगाने, रामनगर, सुल्तानपुर व भीटी गांव के पोखरी, कुंड व तालाबों से अतिक्रमण हटाने तथा रामनगर से लंका के बीच चल रहे ऑटो रिक्शा के रेट निर्धारित करने को कहा। पिंडरा विधायक डॉ अवधेश सिंह ने कहा कि गांवों में बने शौचालयों की सूची जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराई जाए तथा प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत बनने वाले आवासों में लाभार्थियों के चयन प्रक्रिया में जनप्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए। रोहनिया विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह ने कहा कि खराब पड़े हैंडपम्पों को प्राथमिकता के आधार पर री-बोर कराया जाए तथा मानसून के पूर्व नाले-नालियों की सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। बैठक में महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय, जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा, क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी नवरतन राठी, सीडीओ मधुसूदन, डीपीआरओ, बीडीओ दीपांकर, आकाश सहाने, दिवाकर सिंह, धर्मेंद्र, कौशल कुमार सिंह भी शामिल रहे। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर

Related Stories

No stories found.