RLD प्रमुख जयंत चौधरी के BJP में शामिल होने की अटकलों पर शिवपाल यादव का ने कह दी बड़ी बात!, जानिए- क्या कहा?

Lok Sabha Election 2024: राष्ट्रीय लोकदल (RLD) प्रमुख जयंत चौधरी का एनडीए गठबंधन में जाने के सवाल पर सपा नेता शिवपाल सिंह यादव ने दावा किया है कि जयंत कहीं नहीं जा रहे हैं। वे धर्मनिरपेक्ष लोग हैं।
Jayant Chaudhary and Shivpal Yadav
Jayant Chaudhary and Shivpal Yadav Raftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव से पहले देश में भाजपा के विजय रथ को रोकने के लिए बने विपक्षी दलो के गठबंधन (I.N.D.I.A.) में इस समय सब कुछ ठीक नही चल रहा है। एक तरफ इस गठबंधन को एक साथ लाने वाले इसके मुख्य सूत्रधार बिहार मुख्यमंत्री ने इससे खुद को अलग कर लिया। तो वहीं दुसरी तरफ लोकसभा चुनाव से पहले सीट बंटवारे को लेकर इस गठबंधन में कई जगहों पर एक दुसरे दलों में टकराव देखने को मिल रहा है। ऐसे ही उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन में शामिल राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) प्रमुख जयंत चौधरी के पाला बदलकर बीजेपी नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन में जाने की कयासबाजी तेजी से चल रही है।

एनडीए गठबंधन जा सकते है जयंत चौधरी

गौरतलब है कि यदि राष्ट्रीय लोकदल इंडिया गठबंधन से अलग होता है तो बिहार के बाद उत्तर प्रदेश में विपक्षी इंडिया गठबंधन को बड़ा झटका लगने जा रहा है। सूत्रों की माने तो राष्ट्रीय लोकदल (RLD) प्रमुख जयंत चौधरी का एनडीए गठबंधन में जाने की पठकथा लिखी जा चुकी है। बीजेपी की तरफ से आरएलडी को चार सीटें दिए जाने के ऑफर भी मिल चुका है। सूत्रों का दावा है कि जयंत चौधरी के नेतृत्व वाली पार्टी भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा होने जा रहीं है।

जयंत कहीं नहीं जा रहे हैं- शिवपाल सिंह यादव

हलांकि इस बीच सपा नेता शिवपाल सिंह यादव ने दावा किया है कि जयंत कहीं नहीं जा रहे हैं। शिवपाल ने कहा, 'मैं जयंत सिंह को बहुत अच्छी तरह से जानता हूं। वे धर्मनिरपेक्ष लोग हैं। भाजपा सिर्फ गुमराह कर रही है। वे (रालोद) INDIA गठबंधन में बने रहेंगे और भाजपा को हराने के लिए हमारे साथ खड़े रहेंगे।' अब शिवपाल के इस बयान के कई सियासी मयने निकाले जा रहें है।

रालोद मुखिया ने आने वाले दिनों में होने वाले दो बड़े कार्यक्रमों को किया रद्द

वहीं मीडिया की रिपोर्ट की माने तो बीजेपी की ओर से जयंत चौधरी को दो से तीन सीटें देने की पेशकश की गई है, इसके साथ ही एक राज्यसभा की सीट का भी ऑफर दिया गया है। हलांकि सपा ने रालोद को गठबंधन में सात सीटे देने का एलान किया है। लेकिन इनमें से चार सीटें ऐसी हैं, जिस पर रालोद के चुनाव चिन्ह पर सपा के उम्मीदवारों को चुनाव लड़ाने की बात कही गई। जिसको लेकर रालोद पार्टी के कार्यकर्ताओं और जाट मतदाताओं में नाराजगी देखने को मिल रही है। ऐसे में जयंत चौधरी भाजपा के ऑफर पर विचार कर रहें है। और उनके इंडिया गठबंधन को छोड़ने की अटकलें और तेज हो गई हैं। वहीं दूसरी तरफ रालोद मुखिया ने आने वाले दिनों में होने वाले दो बड़े कार्यक्रमों को भी रद्द कर दिया गया है। जिसके बाद इस अनके भाजपा में जाने की चर्चा और तेज हो गई है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.