Lucknow: उत्तर प्रदेश विधानसभा की सुरक्षा में बढ़ायी गयी चेकिंग

Uttar Pradesh: उत्तर प्रदेश विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था में रात दिन कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों ने मुख्य द्वारों पर चेकिंग बढ़ा दी है।
Uttar Pradesh Vidhan sabha
Uttar Pradesh Vidhan sabharaftaar.in

लखनऊ, (हि.स.)। उत्तर प्रदेश विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था में रात दिन कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों ने मुख्य द्वारों पर चेकिंग बढ़ा दी है। विधानसभा के अध्यक्ष सतीश महाना के आदेश पर विधानसभा को बड़े सुरक्षा घेरे में रखने की तैयारी हो गयी है। जिससे नई दिल्ली में संसद के भीतर हुए धुंआ कांड जैसी घटना को कहीं पर दोहराया ना जा सके।

विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर वि.स. सचिवालय के अधिकारियों से वार्ता की

संसद में धुंआ कांड के बाद उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष सतीश महाना ने विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर विधानसभा सचिवालय के अधिकारियों से वार्ता की। जिसमें विधानसभा की सुरक्षा व्यवस्था और आवश्यक इंतजाम देखने वाले अधिकारियों ने आधुनिक गैजेट्स लगाने, समस्त प्रवेश द्वार पर चेकिंग बढ़ाने, चेकिंग के लिए लगाये गये पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ाने, सीसीटीवी कैमरों को दुरुस्त करने, प्रवेश करने वाले व्यक्ति की स्थितियों की निगरानी रखने जैसे मुख्य विषय पर चर्चा की।

जनप्रतिनिधि पास के माध्यम से वि.सभा में प्रवेश पाने वाले लोगों की जांच पड़ताल सख्त

उत्तर प्रदेश विधानसभा में प्रवेश के लिए ज्यादातर राजनीतिक दलों से जुड़े कार्यकर्ताओं और जरुरतमंद लोगों द्वारा जनप्रतिनिधि के पास का सर्वाधिक उपयोग होता रहा है। ये लोग एक निश्चित अवधि के लिए विधानसभा में प्रवेश करते है, जिसके बाद अपने कार्यों को पूर्ण कर वापस हो जाते हैं। ऐसे में जनप्रतिनिधि पास (आईडी प्रूफ) के माध्यम से विधानसभा में प्रवेश पाने वाले लोगों की जांच पड़ताल बढ़ायी जा सकती है।

संसद में चूक के बाद नागपुर वि.सभा और झारखंड वि.सभा की भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

संसद में चूक के बाद नागपुर विधानसभा और झारखंड विधानसभा की भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है। उल्लेखनीय है कि भारतीय संसद के निचले सदन (लोकसभा) की कार्यवाही स्थानीय समयानुसार दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। 2 लोगों ने इमारत में प्रवेश किया और सांसदों और स्पीकर पर आंसू गैस के गोले फेंके। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। संसद पर हमले के 22 साल बाद लोकसभा में बड़ी सुरक्षा चूक से आहत कई सांसदों ने घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की। रंगीन धुएं से भरे कनस्तर लेकर दो आदमी दर्शक दीर्घा से लोकसभा के कक्ष में कूद पड़े। फ़ुटेज में उनमें से एक को डेस्क के ऊपर से कूदते हुए और अध्यक्ष की कुर्सी की ओर बढ़ते हुए दिखाया गया है, जबकि दूसरे ने एक कनस्तर से पीला धुंआ उगल दिया था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.