railway-engine-dies-person-killed-villagers-tracked-railway-track
railway-engine-dies-person-killed-villagers-tracked-railway-track

रेल ईंजन की चपेट में व्यक्ति की मौत, ग्रामीणों ने रेलवे ट्रैक किया जाम

मीरजापुर, 27 मई (हि.स.)। रेल कारीडोर परियोजना की रेल लाइन पर गुरुवार की सुबह रेल इंजन की चपेट में आने से जिगना थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे से आक्रोशित ग्रामीणों ने रेलवे ट्रैक पर स्लीपर और बोल्डर रखकर जाम कर दिया। सुमतिया निवासी शिवजीत सिंह (45) पुत्र स्व रंगबहादुर सिंह गुरुवार की सुबह लगभग 06 बजे अपने पुराने घर से नये मकान पर आ रहा था। चालू रेल लाइन को पार करके रेल कारीडोर की बनी नई रेल लाइन को पार करते समय मांडा रोड से जिगना की तरफ अप लाइन पर रेल ईंजन आता दिखा। शिवजीत ने भागने की कोशिश की, लेकिन तब तक रेल इंजन ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। सूचना पर पहुंचे परिजन शिवजीत को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सर्रोई गए, जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। मौत की जानकारी होते ही परिवार में कोहराम मच गया। मृतक के भाई अजीत सिंह की सूचना पर पहुंची जिगना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। रेल ईंजन ने ली दो जानें जिगना रेल कारीडोर की बन रही रेल लाइन चालू न होने के पहले ही पांच दिनों में ट्रेन ने दो जाने ले ली। इससे लोगों में रोष है। 22 मई को पाली में चौकीदार रमेशचंद्र विश्वकर्मा की मौत डीएमटी ट्रेन से हुई थी। वह ट्रेन पीछे की तरफ जा रही थी और हार्न भी नहीं बज रहा था। इस बार भी इंजन चालक हार्न नहीं बजा रहा था। ग्रामीणों ने रेलवे ट्रैक को किया जाम रेल कारीडोर परियोजना की बनी नई रेल लाइन पर आक्रोशित ग्रामीणों ने सीमेंट का स्लीपर व बोल्डर रख कर जाम कर दिया। ग्रामीणों का कहना है कि ठेकेदार के कर्मचारी व अधिकारी ग्रामीणों की सुरक्षा का बिना ध्यान दिए ही मनमानी तरीके से डीएमटी व डीएमटी और अन्य सामग्री वाली गाड़ी दौड़ा रहे हैं। यही नहीं गाड़ियों में हार्न भी नहीं बजता है। लोगों की मांग है कि जहां दोनों तरफ आबादी है, वहां ठेकेदार गाड़ी गुजारते समय लोगों की सुरक्षा का ध्यान दे। सवाल यह भी है कि नई रेल लाइन पर गाड़ी किधर से किधर निकल जायेगी कोई पता नहीं है। लोग रेल लाइन पार करते समय अप व डाउन लाइन की ओर ही देखते हैं। बहरहाल कारीडोर परियोजना के अधिकारियों व ठेकेदार पर लोगों में रोष है। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/विद्या कान्त

Related Stories

No stories found.